11 Aug 2022, 17:52:15 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Sport

साउथ अफ्रीका दौरे पर कोरोना संकट, नया वेरिएंट बना टीम इंडिया के लिए खतरा

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Nov 26 2021 5:35PM | Updated Date: Nov 26 2021 5:35PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्‍ली। इंडिया और न्यूजीलैंड के बीच टेस्ट सीरीज शुरू हुए अभी सिर्फ दो ही दिन बीते हैं कि टीम इंडिया के साउथ अफ्रीका दौरे को लेकर चर्चा शुरू हो गई है। भारतीय टीम अगले महीने टेस्ट, वनडे और टी20 सीरीज के लिए साउथ अफ्रीका का दौरा करेगी, लेकिन इस टूर पर कोरोना वायरस संक्रमण के बादल मंडराने लगे हैं, जिससे दौरा संकट में पड़ता दिख रहा है। साउथ अफ्रीका में कोरोना वायरस का नया वेरिएंट मिलने के बाद इस सीरीज पर खतरा मंडरा रहा है। साउथ अफ्रीका में इसी हफ्ते कोविड के नए वेरिएंट के कारण संक्रमण के मामलों में बड़ा उछाल आया है और देश में होने वाले क्रिकेट टूर्नामेंट और सीरीज पर इसका असर पड़ने की आशंका बढ़ गई है। इस वक्त साउथ अफ्रीका में भारत की ए टीम (Indi-A) भी मौजूद है, जो वहां फर्स्ट क्लास मैच खेल रही है। टीम इंडिया को अगले महीने से साउथ अफ्रीका में 3 टेस्ट मैच, 3 वनडे मैच और 4 टी20 मैचों की सीरीज खेलनी है। माना जा रहा है कि टीम इंडिया 8 दिसंबर को इस दौरे के लिए साउथ अफ्रीका रवाना होगी और फिर 17 दिसंबर से टेस्ट मैच के साथ सीरीज की शुरुआत होगी। भारतीय टीम करीब डेढ़ महीने तक इस दौरे के लिए साउथ अफ्रीका में रहेगी। ये मैच चार स्थानों जोहानिसबर्ग, सेंचुरियन, पार्ल और केपटाउन में खेले जाएंगे। लेकिन ताजा अफ्रीकी देश में बढ़ रहे कोरोना के मामलों के कारण इनमें बदलाव हो सकता है।
 
साउथ अफ्रीका के उत्तरी हिस्से में मामले बढ़े हैं और टेस्ट सीरीज के दो प्रमुख वेन्यू जोहानसबर्ग और प्रिटोरिया में इनका असर दिख सकता है। पीटीआई ने इस बारे में BCCI के अधिकारी के हवाले से बताया, जब तक हमें क्रिकेट साउथ अफ्रीका से वहां की स्थिति का पता नहीं चल जाता तब तक हम अपने अगले कदम के बारे में नहीं बता पाएंगे। मौजूदा कार्यक्रम के अनुसार भारतीय टीम को मुंबई में न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज खत्म होने के बाद8 या 9 दिसंबर को रवाना होगी। भारतीय बोर्ड फिलहाल इस मामले में अपना अगला कदम साफ नहीं कर रहा है, लेकिन माना जा रहा है कि बोर्ड नए वायरस को लेकर अफ्रीकी बोर्ड से बात कर सकता है। इस नए वेरिएंट ने पहले ही दुनिया को सतर्क कर दिया है। यूनाइटेड किंगडम ने साउथ अफ्रीका को एक बार फिर रेड लिस्ट में डाल दिया है, जबकि भारत सरकार ने साउथ अफ्रीका से आने वाले यात्रियों की सघन स्क्रीनिंग की एडवाइजरी सभी राज्यों को जारी कर दी है।
 
BCCI को इस बात कि आशंका है कि बदली हुई परिस्थितियों में खिलाड़ियों को साउथ अफ्रीका में कड़े क्वारंटीन में वक्त बिताना पड़ सकता है। बोर्ड अधिकारी के मुताबिक, “पहले कड़े क्वारंटीन का कोई प्रावधान नहीं था लेकिन खिलाड़ी बायो बबल में ही रहेंगे। अब मामले बढ़ रहे हैं और यूरोपीय यूनियन ने भी अस्थायी तौर पर वहां की उड़ानें रद्द कर दी हैं, हमें इन पहलुओं पर गौर करने की जरूरत है। भारतीय टीम के अफ्रीका दौरे से पहले ही वहां एक और भारतीय टीम मौजूद है। इंडिया-ए टीम साउथ अफ्रीका-ए टीम के खिलाफ 4 दिवसीय फर्स्ट क्लास मैच खेल रही है। ब्लोमफोंटेन में दोनों टीमों के बीच पहला मुकाबला खेला जा रहा था। क्या इबस दौरे पर भी वायरस का कुछ असर पड़ेगा, इस सवाल के जवाब में बीसीसीआई अधिकारी ने बताया, “हमें यहां पहुंचने पर कड़े क्वारंटीन से नहीं गुजरना पड़ा था क्योंकि हम चार्टर्ड विमान से आये थे और बायो बबल में रह रहे थे। नये मामले पाये जाने के बाद क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका की मेडिकल टीम ने यहां हमारे प्रतिनिधियों के साथ बैठक की। हमें कहा गया है कि चिंता की कोई बात नहीं है क्योंकि जहां मामले पाये गये हैं वह क्षेत्र ब्लोमफोंटेन से काफी दूर है जहां हमें अपने अगले दो मैच भी खेलने हैंसिर्फ भारतीय टीम ही नहीं, बल्कि इस वक्त साउथ अफ्रीका में नेदरलैंड्स की टीम भी मौजूद है। दोनों टीमों के बीच 3 मैचों की वनडे सीरीज का पहला मुकाबला शुक्रवार 26 नवंबर को ही खेला गया और अगले दो मुकाबलों से पहले डच टीम के अधिकारी अफ्रीकी बोर्ड से मुलाकात कर बचे हुए दोनों मैचों पर फैसला लेंगे।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »