19 Oct 2021, 04:08:10 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Sport

कुश्ती चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक विजेता प्रिया मलिक का हुआ भव्य स्वागत

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 26 2021 6:32PM | Updated Date: Jul 26 2021 6:34PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

जींद। हंगरी में चार विदेशी पहलवानों को धूल चटा कर गोल्ड पर कब्जा करने वाली गोल्ड मेडल विजेता प्रिया मलिक का खेल स्कूल निडानी पहुंचने पर भव्य स्वागत किया गया। गांव के लोगों ने भी छोरी प्रिया मलिक को सर आंखों पर बैठाने का काम किया। गांव निडानी में चौधरी भरत सिंह स्पोटर्स स्कूल एवं भरत मैमोरियल स्पोटर्स स्कूल द्वारा सोमवार को गोल्ड मेडल विजेता प्रिया मलिक के आने का बेसब्री से इंतजार था। 
 
स्कूल पहुंचने पर प्राचार्य राजवंती मलिक, प्राचार्य रामचंद्र ने फूलों की मालाओं से भव्य स्वागत किया। स्कूल में गोल्ड मेडल विजेता की खुशी का कोई ठिकाना नहीं था। इस मौके पर सचिव एवं विदेशक प्रशासन कृष्ण मलिक, सचिव रणधीर श्योराण, कौच जगदीश श्योराण, गोल्ड मेडल विजेता के पिता जयभगवान मलिक, संस्था के प्रवक्ता आनंद लाठर, सुदर्शन चौटाला, मुकेश खटकड़ सहित काफी सं या में गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे। 
 
 हंगरी के बुढ़ापेस्ट में 19 जुलाई से 25 जुलाई तक विश्व कैडेट कुश्ती चैपियन का आयोजन किया गया था। जिसमें प्रिया मलिक ने 73 किलोग्राम वर्गभार कुश्ती चैपियनशीप के चौथे दिन बेलारूस की पहलवान को 5-0 से मात देकर गोल्ड मेडल जीतने का काम किया था। प्रिया ने 10-0 से करोटिया की पहलवान को हरा कर क्वाटर फाइनल में जगह बनाई थी। क्वाटर फाइनल मुकबला हंगरी की पहलवान के साथ हुआ, जिसमें प्रिया मलिक ने अपने प्रतिद्वंद्वी पहलवान को 5-0 से हराया था और सैमिफाइनल में पहुंच गई थी। सैमीफाइनल मुकाबला रूस के साथ हुआ, जिसमें प्रिया ने रसिया की पहलवान को एक तरफ 9-0 से हराने का काम किया था। 
 
हंगरी के बुढ़ापेस्ट में हुई विश्व कैडेट कुश्ती चैपियन में गोल्ड मेडल जीतकर भारत लौटने वाली प्रिया मलिक की ऐतिहासिक जीत पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अपने फेसअुक अकाउंट के जरिए गोल्ड मेडल विजेता प्रिया मलिका को बधाई दी और हरियाणा प्रदेश का मान बढ़ाने पर उनका हौसला बढ़ाया। चौधरी भरतसिंह मैमोरियल खेल स्कुल निडानी संस्था की निदेशिका कृष्णा मलिक ने कहा कि हमें गर्व है ऐसी छोरियों पर जब देश की निगाहें स मान को लेकर टिकी रहती हैं तब हमारी संस्था की छोरियां विदेशों में खेलों के माध्यम से भारत के झंडे को उंचा उठाने का काम करती हैं। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »