20 Jun 2021, 18:11:37 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

मुख्तार अंसारी ने पेड़ के नीचे बिताया ज्यादा से ज्यादा समय, ये थी वजह

By Dabangdunia News Service | Publish Date: May 13 2021 6:27PM | Updated Date: May 13 2021 6:28PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

बांदा जेल में बंद बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी की एंटीजन टेस्ट में कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आई है। वह अब कोरोना के संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं। जेल के अंदर ही रहते हुए मुख्तार ने कोरोना को हरा दिया है। वह 24 अप्रैल को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। जेल में दिन के समय मुख्तार अंसारी का अधिकांश समय जेल में बैरक के बाहर पेड़ के नीचे चटाई पर बीतता है।

मुख्तार को पिछली आठ अप्रैल को पंजाब की रोपड़ जेल से बांदा लाया गया था जिसके कुछ दिन बाद उनको कोरोना हो गया था। मुख्तार को कड़ी निगरानी में जेल में रखा गया है। मुख्तार की सुनवाई वीडियो कांफ्रेसिंग से होती है जबकि उस पर निगाह रखने के लिये कई सीसीटीवी कैमरे जेल परिसर में लगाये गये हैं।

जेल अधीक्षक के मुताबिक, मुख्तार अंसारी पूरी तरह से स्वस्थ हैं। अब उनकी कोरोना रिपोर्ट भी नेगेटिव आ गई। आइसोलेशन बैरक से उन्हें मूल बैरक नंबर-16 में भेज दिया गया। इससे पहले जेल के सभी बैरकों को एक बार फिर सैनिटाइज कराया गया है।

यूपी के साथ ही अन्य राज्यों में भी करीब 50 आपराधिक केस में नामजद मऊ से विधायक मुख्तार अंसारी बीते दिनों संक्रमित हो गया था। उसके साथ ही जेल के कई और बंदियों की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई थी। जिला जेल प्रशासन को गुरुवार को मिली मुख्तार अंसारी की कोरोना वायरस संक्रमण की रिपोर्ट में उसका टेस्ट निगेटिव आया है।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में एक बार फिर जेल में निरुद्ध 28 विचाराधीन बंदियों को 60 दिन की अंतरिम जमानत पर रिहा किया गया है। सात साल या इससे कम सजा वाले करीब सौ और कैदी व विचाराधीन बंदी पैरोल पर रिहा होंगे। पिछले साल पैरोल पर छोड़े गए सजायाफ्ता व विचाराधीन 41 बंदियों को 90 दिन की पैरोल पर रिहा किया जाएगा।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »