01 Apr 2020, 17:01:46 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

PM मोदी से महाकुंभ के लिये त्रिवेंद्र ने मांगी आर्थिक मदद

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jan 19 2020 12:15AM | Updated Date: Jan 19 2020 12:15AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शनिवार को यहां प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की और वर्ष 2021 में हरिद्वार में होने वाले महाकुंभ मेले, चारधाम देवस्थानम् बोर्ड, आलवेदर रोड तथा ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाइन जैसी महत्वपूर्ण योजनाओं की प्रगति के संबंध में जानकारी दी। त्रिवेंद्र ने मोदी से महाकुंभ के लिये आर्थिक सहयोग की भी मांग की है। मोदी से हुई मुलाकात के बाद त्रिवेंद्र ने बताया कि महाकुंभ मेले के लिये सरकार गंभीर है और उसके सफल संचालन के लिये एक हजार करोड़ रूपये से अधिक के विकास कार्य सम्पन्न कराये जायेंगे। उन्होंने कहा कि महाकुंभ में तीर्थयात्रियों और दर्शनार्थियों की संख्या को देखते हुए कुंभ क्षेत्र का विस्तार किया जा रहा है।
 
वर्ष 2010 में संपन्न कुम्भ मेले में देश विदेश से आठ करोड़ श्रद्धालु पहुंचे थे जबकि इस बार अनुमान लगाया जा रहा है कि 15 करोड़ श्रद्धालु हरिद्वार पहुचेंगे। इसके लिये वृहद स्तर पर सभी प्रकार की स्थायी व अस्थायी सुविधायें विकसित की जा रही हैं। रावत ने प्रधानमंत्री को उनके ड्रीम प्रोजेक्ट केदारनाथ पुनर्निर्माण योजना की प्रगति रिपोर्ट भी सौंपी। मुख्यमंत्री कार्यालय के मुताबिक मोदी ने त्रिवेंद्र से कहा कि केदारनाथ पुनर्निर्माण योजना से संबंधित कार्यों को मिशन मोड पर संचालित किये जायें। यह भी बताया गया कि मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को बदरीनाथ-केदारनाथ-गंगोत्री-यमुनोत्री के अलावा अन्य मंदिरों के लिये बनाये गये देवस्थानम बोर्ड की भी जानकारी दी।
 
उन्होंने मोदी को बताया कि सरकार राज्य में पलायन को रोकने के लिये गंभीर है और इसके लिये हर संभव कदम उठाये जा रहे हैं। त्रिवेंद्र ने मोदी को बताया कि सीमांत क्षेत्र के गांवों में आजीविका एवं बुनियादी सुविधायें उपलब्ध कराने के लिये मुख्यमंत्री सीमांत क्षेत्र विकास योजना शुरू की जा रही है। इसके लिये उन्होंने केन्द्र से राज्य को विशेष पैकेज दिये जाने का अनुरोध किया है। त्रिवेंद्र ने प्रधानमंत्री को केन्द्र प्रायोजित नमामि गंगे परियोजना के तहत बनाये जा रहे सीवर ट्रीटमेंट योजनाओं की प्रगति के बारे में भी बताया। उन्होंने मोदी को भरोसा दिलाया कि नवम्बर 2020 तक सभी स्वीकृत योजनायें पूरी हो जायेंगी। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में 462 वेलनेस सेंटर स्थापित किये जा रहे हैं। 305 वेलनेस सेंटर का कार्य पूर्ण हो चुका है।
 
शेष मार्च 2020 तक पूर्ण हो जायेंगे। त्रिवेंद्र ने मोदी को राज्य के सबसे बड़े मोटर केबिल पुल डोबरा चांटी की जानकारी दी और कहा कि पुल का निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है। उन्होंने प्रधानमंत्री को पुल के लोकार्पण के शुभ अवसर पर आने के लिये आमंत्रित किया है। त्रिवेंद्र ने मोदी को 300 मेगावाट की लखवाड़ जल विद्युत परियोजना की जानकारी भी दी और केन्द्र सरकार से उसकी जल्द मंजूरी के लिये अनुरोध किया है। उन्होंने बताया कि इन्वेस्टर्स समिट 2018 के बाद राज्य में अभी तक 19000 करोड़ रूपये की संरचना तैयार हो चुकी है। नीति आयोग की ओर से वर्ष 2019 की गवर्नेंस इंडेक्स के लिये उत्तराखंड को अच्छी रैंिकग मिली है। कामर्स एवं इंडस्ट्री के क्षेत्र में हिमालयी राज्यों में उत्तराखंड को प्रथम जबकि पूरे देश में नौवीं, मानव संसाधन के विकास मामले में हिमालयी राज्यों में द्वितीय जबकि देश में छठवीं और नीति आयोग की समग्र रैकिंग में हिमालयी राज्यों में उत्तराखंड को द्वितीय जबकि देश में दसवां स्थान हासिल हुआ है।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »