19 Oct 2021, 05:46:05 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

मध्यप्रदेश में दो दर्जन से अधिक स्थानों पर मूसलाधार बारिश के आसार

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Sep 16 2021 3:40PM | Updated Date: Sep 16 2021 3:54PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

भोपाल। मध्यप्रदेश में एक बार फिर मासूसन के सक्रिय होने के बाद से लगातार कई दिनों से हो रही वर्षा के बीच अगले चौबीस घंटों के दौरान दो दर्जन से अधिक स्थानों पर कहीं-कहीं मूसलाधार बारिश होने की संभावना है। 
 
प्रदेश में मानसून के सक्रियता से राज्य के सभी संभागों में आने वाले जिलों में बीते चौबीस घंटो के दौरान कहीं अच्छी वर्षा और कहीं हल्की से मध्यम वर्षा दर्ज की गई। कई स्थानों पर वर्षा का सिलसिला लगातार दो-तीन दिनों से बनी हुई है। बीते चौबीस घंटों के दौरान महाकौशल अंचल में आने वाले मंडला जिले में सबसे अधिक वर्षा दर्ज की गई। इस जिले में 110 मिमि वर्षा दर्ज हुई है। इसके बाद रतलाम में 60 मिमि वर्षा दर्ज की गई। वहीं सीधी, भोपाल शहर, उमरिया व जबलपुर में 59 मिमि से 55 मिमि के बीच वर्षा हुई। 
 
इसके साथ ही भोपाल 41, पचमढ़ी 41, होशंगाबाद 38.2, नरसिंहपुर 37, खंडवा 29, सतना 27.8, रायसेन में 24.6, उज्जैन 23, इंदौर 22.4, शाजापुर 20.0 मिमि, रीवा 18, मलाजखंड, नौगांव, टीकमगढ़, खजुराहो, दमोह, सागर, गुना, श्योपुर, छिंदवाड़ा, खरगोन व बैतूल में हल्की से मध्यम वर्षा दर्ज की गई। 
 
भोपाल मौसम विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक जे पी विश्वकर्मा ने ‘यूनीवार्ता’ को बताया कि मध्यप्रदेश के उत्तर-मध्य क्षेत्र में निम्न दबाव क्षेत्र (लो प्रेशर) का प्रभाव चक्रवातीय परिसंचरण के रुप में सक्रिय है। इसके अलावा एक मानसून ट्रफ अमरेली बडोदरा से होते हुए प्रदेश के शाजापुर से गुजर रही है। इस स्थिति के चलते राज्य में अच्छी वर्षा के आसार है। यह स्थिति फिलहाल एक दो दिन रह सकती है। उन्होंने बताया कि कई स्थानों पर मूसलाधार वर्षा से निचले इलाकों में कुछ समय के लिये जल भराव की संभावना है।
 
विश्वकर्मा ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में आगामी 21-22 सितंबर तक एक कम दबाव का क्षेत्र विकसित होने का अनुमान है। इस सिस्टम के प्रभाव के चलते एक बार फिर पूरे प्रदेश भर में अच्छी बारिश हो सकती है। 
 
 उन्होंने बताया कि वर्तमान स्थिति में बने सिस्टम के प्रभाव के कारण राज्य के दो दर्जन से अधिक स्थानों पर मूसलाधार बारिश की संभावना है। ऐसे में रीवा, सतना, सीधी, सिंगरौली, अनूपपुर, शहडोल, डिंडौरी, बालाघाट, सागर, छतरपुर, पन्ना, दमोह, टीकमगढ़ निवाड़ी, शिवपुरी, अशोकनगर, ग्वालियर, श्योपुर, विदिशा, रायसेन, सीहोर, राजगढ़, होशंगाबाद, बैतूल, खरगोन, शाजापुर, आगर व मंदसौर जिले में कहीं-कहीं भारी बारिश की संभावना है।
 
उन्होंने बताया कि प्रदेश के सागर, रीवा, जबलपुर, शहडोल, भोपाल, इंदौर, उज्जैन, होशंगाबाद, ग्वालियर एवं चंबंल संभागों के जिलों में गरज चमक के साथ बिजली गिर सकती है। उन्होंने बताया कि रीवा, सागर, जबलपुर, शहडोल, भोपाल, इंदौर, उज्जैन, होशंगाबाद, ग्वालियर एवं चंबल संभागों के जिलों में गरज चमक के साथ अधिकांश स्थानों पर वर्षा हो सकती है। 
 
प्रदेश की राजधानी भोपाल में कल से रुक रुक कर बारिश का सिलसिला बना हुआ है। कल यहां भोपाल सहित इसके आसपास अच्छी बारिश हुई। यहां कल शुक्रवार के दिन आकाश की स्थिति मेघमय हो सकती है। शहर में गरज चमक के साथ वर्षा तथा वर्षा के एक या दो दौर तेज हो सकता है।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »