05 Dec 2021, 07:21:23 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Business

मुकेश अंबानी फिर बने एशिया के नं.1 अरबपति, गौतम अडानी कभी भी हासिल कर सकते हैं ताज

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Nov 25 2021 11:19AM | Updated Date: Nov 25 2021 12:42PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्‍ली। एक बार फिर एशिया के सबसे बड़े रईस का ताज मुकेश अंबानी के सिर पर आ गया है। एक दिन पहले ही अडानी समूह के मुखिया गौतम अडानी एशिया के सबसे दौलतमंद अरबपति बने थे। गौतम अडानी को पहली बार ये सफलता मिली थी। हालांकि दोनों के बीच संपत्ति में बहुत ज्यादा अंतर नहीं है। आज दिन में कई बार एशिया के सबसे बड़े अरबपति की पोजीशन में बदलाव देखने को मिल सकता है। ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स की ताजा लिस्ट के मुताबिक अब रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी 89.7 अरब डॉलर की कुल संपत्ति के साथ एशिया के सबसे बड़े अरबपति हैं, वहीं गरैतम अडानी 89.1 अरब डॉलर की कुल संपत्ति के साथ दूसरे नंबर पर हैं। तीसरे नंबर पर चीन के झोंग शानशान हैं। किसकी कितनी दौलत: ईटी नाउ की रिपोर्ट के मुताबिक ग्रुप मार्केट कैप के आधार पर गौतम अडानी ने मुकेश अंबानी को पछाड़ते हुए एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति का खिताब हासिल किया है। आपको यहां बता दें कि मुकेश अंबानी की एक कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज शेयर बाजार में लिस्टेड है। वहीं, गौतम अडानी की कुल छह कंपनियां शेयर बाजार में लिस्टेड हैं। 
 
हालांकि, दौलत आंकने वाली वेबसाइट ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स ने अरबपतियों की रैंकिंग को अपडेट नहीं किया है। वेबसाइट पर अब भी मुकेश अंबानी एशिया के सबसे दौलतमंद अरबपति बने हुए हैं। मुकेश अंबानी की दौलत 91 बिलियन डॉलर है और वह फिलहाल दुनिया के 12वें सबसे रईस अरबपति हैं। वहीं, गौतम अडानी की दौलत 88.8 बिलियन डॉलर के स्तर पर है। गौतम अडानी की रैंकिंग 13वीं है। ये संभव है कि अगले 24 घंटे में वेबसाइट पर रैंकिंग अपडेट हो जाए। मुकेश अंबानी की रिलायंस के स्टॉक में लगातार गिरावट आ रही है। बीते तीन कारोबारी दिन में रिलायंस का शेयर भाव 6 फीसदी तक टूट गया है। मुकेश अंबानी की रिलायंस और सऊदी अरामको के बीच डील कैंसिल होने की वजह से स्टॉक में गिरावट देखने को मिल रही है। अब इस डील पर नए सिरे से मंथन होगा। करीब तीन साल के प्रयास के बाद डील कैंसिल होने से निवेशकों का सेंटिमेंट बिगड़ा है। वहीं, इस दौरान अडानी ग्रुप की लिस्टेड कुछ कंपनियों के शेयर भाव में तेजी आई है। 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »