13 Jun 2024, 00:55:16 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news

भारत आ रहे जिस जहाज को इजरायली समझ कर हूती आतंकियों ने किया हाईजैक, वो निकला ब्रिटेन का

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Nov 20 2023 12:27PM | Updated Date: Nov 20 2023 12:27PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

तेल अवीव। बइजरायल ने रविवार को आरोप लगाया कि यमन के हूती मिलिशिया ग्रुप ने दक्षिण लाल सागर में एक अंतरराष्ट्रीय मालवाहक जहाज को अपने कब्जे में ले लिया है, जो तुर्किये से भारत जा रहा था। तेल अवीव ने इसे 'ईरान का आतंकवादी कृत्य' और वैश्विक स्तर पर एक 'बहुत गंभीर घटना' बताया है। इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के कार्यालय ने कहा कि ब्रिटिश स्वामित्व वाले जापानी मालवाहक जहाज को ईरान के सहयोगी हूती लड़ाकों ने हाईजैक कर लिया। हमास ने हूती लड़ाकों को इस हाईजैक के लिए शुक्रिया बोला है।

अधिकारियों ने कहा कि जहाज पर कोई इजरायली नागरिक नहीं था। नेतन्याहू के कार्यालय ने कहा, 'ईरान का यह एक और आतंकवादी कृत्य है जो वैश्विक शिपिंग मार्गों की सुरक्षा पर सवाल खड़ा करता है।' हूती ने भी शिप को हाईजैक करने की पुष्टि की है। हालांकि, इस मिलिशिया समूह ने इजरायली जहाज को अपने कब्जे में लेने का दावा किया है, लेकिन तेल अवीव ने इसे खारिज कर दिया। हूती ने एक बयान में कहा कि दक्षिणी लाल सागर से जहाज को यमन के बंदरगाह पर ले जाया गया है।

हमास के प्रतिनिधि ओसामा हमदान ने कहा, 'यमनी विद्रोही संगठन हूती की ओर से यह एक स्वागत योग्य कदम है, और मेरा मानना ​​​​है कि इजरायल द्वारा गाजा में किया गया अपराध हर वफादार को फिलिस्तीनी लोगों की रक्षा और समर्थन करने के लिए उत्सुक बनाता है। इसलिए, उन्हें मेरी शुभकामनाएं। लेबनान और इराक में लोगों ने इजरायल के खिलाफ प्रदर्शन किया। उन सभी लोगों का शुक्रिया जो अरब मुल्कों और दूसरे इस्लामी देशों में इजरायली अपराध के खिलाफ सड़कों पर उतरे।'

हूती सशस्त्र समूह के प्रवक्ता ने एक बयान में कहा, 'हम जहाज के चालक दल के सदस्यों के साथ इस्लामी सिद्धांतों और मूल्यों के अनुसार व्यवहार कर रहे हैं। हूती ने एक हेलीकॉप्टर का उपयोग करके अपने लड़ाकों को जहाज पर उतारा और इसे अपने कब्जे में ले लिया।' इजरायल ने कहा कि इस मालवाहक जहाज का स्वामित्व एक ब्रिटिश कंपनी के पास है और इसका संचालन एक जापानी फर्म द्वारा किया जाता है। जहाज पर यूक्रेन, बल्गेरिया, फिलिपिंस और मैक्सिको सहित अन्य देशों के 25 क्रू मेंबर मौजूद थे।

हूती प्रवक्ता ने एक अन्य बयान में कहा कि हमारा समूह इजरायली कंपनियों के स्वामित्व वाले या इजरायली ध्वज वाले सभी जहाजों को टारगेट करेगा। हूती ने दूसरे देशों से कहा है कि वे इजरायली जहाजों पर क्रू मेंबर के रूप में काम करने वाले अपने नागरिकों को वापस बुला लें। द वाशिंगटन पोस्ट ने दो अमेरिकी रक्षा अधिकारियों के हवाले से कहा कि यमनी मिलिशिया ग्रुप ने गैलेक्सी लीडर नाम के जहाज को हाईजैक किया है। बता दें कि हूती लड़ाके हमास के साथ मिलकर लंबी दूरी की मिसाइलों और ड्रोन सैल्वो से इजरायली चौकियों को निशाना बना रहे हैं। इजरायल और हमास 7 अक्टूबर से युद्ध लड़ रहे हैं।

हूती एक जैदी शिया मुस्लिम विद्रोही संगठन है, जो 1990 के दशक में हुसैन बदरेद्दीन अल-हूती के नेतृत्व में, समूह पूर्व यमनी राष्ट्रपति अली अब्दुल्ला सालेह के विरोध के रूप में उभरा। उन्होंने अब्दुल्ला सालेह पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया और सऊदी अरब व अमेरिका समर्थक होने के लिए उनकी आलोचना की। हूती समूह सुन्नी-प्रभुत्व वाली सरकार का विरोधी है और 2004 से यमनी सरकार के साथ छह युद्ध लड़ चुका है। हूती विद्रोही समूह ने 2014 में यमन की राजधानी सना पर कब्जा कर लिया और वहां की चुनी हुई सरकार को निर्वासन के लिए मजबूर कर दिया। तब से, वे सऊदी के नेतृत्व वाले सुन्नी अरब देशों के गठबंधन के खिलाफ गृह युद्ध लड़ रहे हैं।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »