12 Jun 2024, 23:51:24 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Sport

एशिया कप के बाद वनडे वर्ल्ड कप के वेन्यू पर बवाल, पाकिस्तान की तरफ से आया एक और बयान

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Apr 1 2023 11:30AM | Updated Date: Apr 1 2023 11:30AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) और एशियन क्रिकेट काउंसिल (ACC) के बीच लंबे समय से एशिया कप 2023 के वेन्यू पर चर्चा जारी है। इस टूर्नामेंट की मेजबानी पाकिस्तान के पास है और बीसीसीआई की तरफ से भारतीय क्रिकेट टीम के पाकिस्तान की यात्रा करने से मना कर दिया गया है। इसके बाद न्यूट्रल वेन्यू पर टूर्नामेंट को करवाने की मांग उठी है। उधर पाकिस्तान की तरफ से एक हाइब्रिड मॉडल पेश किया गया जिसमें भारत को अपने मैच न्यूट्रल वेन्यू पर खेलने होंगे और बाकी सभी मैच पाकिस्तान में ही होंगे। पर हाल ही में इसको लेकर एक नया विवाद आया था। खबरें यह आई थीं कि पाकिस्तान की ओर से यह हाइब्रिड मॉडल आईसीसी (ICC) में पेश किया गया जिसमें पाकिस्तानी टीम वनडे वर्ल्ड कप 2023 के अपने मैच भारत की बजाय पाकिस्तान में खेलेगी।

पर अब पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) की ओर से इस पर स्पष्ट जवाब जारी किया गया है। पीसीबी की तरफ से इस बात को बिल्कुल झुठला दिया गया है कि उसने यह हाइब्रिड मॉडल आईसीसी में पेश किया। पीसीबी ने शुक्रवार को स्पष्ट किया कि उसके अध्यक्ष नजम सेठी ने आईसीसी बोर्ड की बैठक में कभी यह विचार नहीं रखा कि उनकी पुरुष टीम भारत के बजाय बांग्लादेश में अपने विश्व कप मैच खेलने की इच्छुक है। हालांकि, ‘पीटीआई-भाषा’ की ओर से 29 मार्च को ही यह खबर दी गई थी कि आईसीसी ने इस बात से इनकार कर दिया था कि उसके मंच पर कभी इस तरह की कोई भी चर्चा हुई थी। 

आईसीसी ने कहा था कि, बांग्लादेश किसी भी विश्व कप मैच की मेजबानी के लिए भी दावेदार नहीं है क्योंकि बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट बोर्ड) ने आश्वासन दिया था कि पाकिस्तान टीम के लिए वीजा की समस्या नहीं होगी। पीसीबी ने स्पष्ट किया कि टूर्नामेंट के ‘हाइब्रिड मॉडल’ की अवधारणा सिर्फ एशिया कप से संबंधित थी क्योंकि भारतीय टीम पाकिस्तान की यात्रा नहीं करेगी। वहीं पीसीबी अध्यक्ष पद का कार्यभार संभाल रहे नजम सेठी ने गुरुवार को रावलपिंडी/इस्लामाबाद में मीडिया से की गई बातचीत का जिक्र करते हुए कहा कि, उन्होंने एशिया कप के लिए पेश किए गए ‘हाईब्रिड मॉडल’ के बारे में मीडिया को जानकारी दी थी ताकि टीम इंडिया के पाकिस्तान नहीं आने के फैसले के बाद हुए गतिरोध को खत्म किया जा सके। 

पीसीबी द्वारा जारी किए गए नए बयान के मुताबिक, भारत के मैच तटस्थ स्थान पर और बाकी पाकिस्तान में खेलने का प्रस्ताव एसीसी में चर्चा के अधीन है। वहीं रिलीज में नजम सेठी के हवाले से कहा गया कि, मीडिया के एक वर्ग ने उनकी बात को गलत तरीके से पेश किया। गुरुवार की प्रेसवार्ता के दौरान किसी भी स्तर पर नजम सेठी द्वारा आईसीसी या पुरुष क्रिकेट विश्व कप 2023 पर कोई टिप्पणी नहीं की गई, जो अक्टूबर में भारत में होने वाला है। इस मामले पर अब तक किसी भी आईसीसी मंच पर चर्चा नहीं की गई है।

पीसीबी ने अपनी रिलीज में एक स्थानीय अंग्रेजी समाचार पर सवाल उठाया और लिखा कि, पीसीबी इस बात से निराश है कि अंग्रेजी भाषा के एक प्रमुख अखबार ने नजम सेठी की टिप्पणियों को गलत तरीके से पेश किया, गलत व्याख्या की और यह धारणा दी कि पीसीबी के ‘हाइब्रिड मॉडल’ को आईसीसी में पेश किया गया और उस पर चर्चा की गई, जो कि तथ्यात्मक रूप से गलत है। इस मामले में किरकिरी होने के बाद पीसीबी ने सभी को सांत्वना देते हुए प्रेस रिलीज में उल्लेख किया कि 'हाइब्रिड मॉडल' की अवधारणा पर बाद में चर्चा की जा सकती है। आईसीसी में यह हालांकि सभी को पता है कि ऐसी किसी भी सिफारिश को खारिज कर दिया जाएगा। वहीं यह कहना भी गलत होगा कि ‘हाइब्रिड मॉडल’ की वकालत नहीं की जाएगी। उचित समय आने पर आईसीसी में इस मुद्दे को उठाया जाएगा।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »