21 Apr 2024, 07:06:01 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Sport

किसान आंदोलन के बीच पहलवान साक्षी मलिक ने केंद्र सरकार को फिर से आंदोलन करने की दी वॉर्निंग

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Feb 14 2024 5:43PM | Updated Date: Feb 14 2024 5:43PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। इन दिनों किसान आंदोलन अपने जोरों पर है और सभी किसान राजधानी दिल्ली में एंट्री की भरपूर कोशिश कर रहे हैं। किसान दिल्ली तक कूच ना कर सकें इसके लिए पुलिस द्वारा दिल्ली के बॉर्डर्स को सील कर दिया गया है। मगर इसी बीच केंद्र सरकार की मुश्किलें और भी बढ़ सकती हैं।

दरअसल, भारतीय स्टार महिला पहलवान साक्षी मलिक ने केंद्र सरकार को फिर से आंदोलन करने की वॉर्निंग दी है। उन्होंने सोशल मीडिया पर अपना एक वीडियो मैसेज शेयर करते हुए कहा कि सरकार जल्द से जल्द भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) के पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह और उनके गुर्गों के खिलाफ कार्रवाई करे। साक्षी के अलावा स्टार पहलवान बजरंग पूनिया ने भी वीडियो मैसेज शेयर कर कहा कि हमारी खामोशी को हमारी कमजोरी ना समझें। साक्षी ने कहा कि यदि सरकार यह कार्रवाई नहीं करती है, तो उन्हें फिर से आंदोलन के लिए मजबूर होना पड़ेगा। साक्षी ने वीडियो में बताया कि उन्हें पता चला है कि संजय सिंह ने यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग (UWW) से साठगांठ करके खुद को बहाल करवा लिया है।

बता दें कि पिछले साल बृजभूषण के इस्तीफे के बाद भारतीय कुश्ती महासंघ के चुनाव हुए थे। तब इन चुनावों में संजय सिंह ने जीत दर्ज की थी, जो बृजभूषण के ही गुट के हैं। तब बृजभूषण और उनके समर्थकों ने जीत के बाद दबदबे वाली बात कहते हुए जश्न मनाया था। इसके बाद खेल मंत्रालय ने संजय सिंह को बर्खास्त कर दिया था। इसके साथ ही एक नई एड हॉक कमेटी का गठन किया था। हालांकि इसी दौरान साक्षी ने भी रेसलिंग से संन्यास का ऐलान कर दिया था।

साक्षी मलिक ने सोशल मीडिया पर अपना एक वीडियो मैसेज शेयर किया है। साथ ही उन्होंने पोस्ट में लिखा, 'सरकार से निवेदन है हमे दोबारा आंदोलन के लिये मजबूर ना करे।' साथ ही साक्षी ने वीडियो में कहा, 'सभी को मेरा नमस्कार, आप सभी को हमारे आंदोलन के बारे में तो पता ही है। 21 दिसंबर को बृजभूषण के दबदबे की बेहूदगी और तांडव को देखते हुए सरकार ने संजय सिंह को सस्पेंड कर दिया था।'

पूर्व भारतीय रेसलर ने कहा, 'उसके बाद स्पोर्ट्स मिनिस्ट्री और IOA (इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन) एड हॉक कमेटी बनाई थी। जिसका हमने स्वागत किया। फिर एड हॉक कमेटी ने बहुत अच्छा सीनियर नेशनल कराया। हमने उसका भी स्वागत किया। उसके बाद बृजभूषण व संजय सिंह सरकार और कानून की धज्जियां उड़ाना शुरू कर देते हैं। चाहे पैरेलल नेशनल कराना हो, या फिर कोचों और रेफरी को डरा-धमकाना हो। या फिर फेडरेशन के पैसे का गलत इस्तेमाल करना हो। बृजभूषण और संजय सिंह यह दिखाने में कोई कसर नहीं छोड़ते कि वो सरकार और कानून से भी ऊपर हैं।'

साक्षी मलिक ने कहा, 'हमें कल ही पता चलता है कि संजय सिंह ने UWW (यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग) के साथ सेटिंग करके अपने आप को बहाल करवा लिया है। हमारा आंदोलन स्थगित हुआ है। मैंने चाहे कुश्ती से संन्यास ले लिया हो, लेकिन मैं अपने जीते जी कभी नहीं देख सकती कि बृजभूषण और उसके गुर्गे फेडरेशन चला रहे हैं और बहन बेटियों का शोषण कर रहे हैं।' बजरंग पूनिया ने भी वीडियो मैसेज में आंदोलन की बात कही।

उन्होंने कहा, 'आने वाले 2-4 दिनों में हम अपने आंदोलन से जुड़े सभी लोगों को एकजुट कर आगे की रणनीति तैयार करेंगे। मैं सरकार से निवेदन करती हूं कि बृजभूषण और उसके गुर्गों को हमेशा के लिए फेडरेशन से बर्खास्त किया जाए और किसी अच्छे इंसान को फेडरेशन में लाया जाए। वरना मजबूरन जल्द से जल्द हमें आंदोलन का रास्ता अपनाना पड़ेगा।'

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »