19 Apr 2024, 09:09:15 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news

'मैंने इस्तीफा नहीं दिया', मैं योद्धा हूं, हमारी सरकार 5 साल चलेगी": CM सुखविंदर सिंह सुक्खू

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Feb 28 2024 5:05PM | Updated Date: Feb 28 2024 5:05PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्‍ली। हिमाचल प्रदेश के मुख्‍यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू (Sukhvinder Singh Sukhu) ने अपने इस्‍तीफे की खबर को अफवाह बताया है। उन्‍होंने कहा, "मैंने इस्‍तीफा नहीं दिया है। मेरे इस्‍तीफे की खबरें अफवाह हैं। हमारी सरकार स्थिर है और पूरे पांच साल तक चलेगी। हालांकि, इससे पहले खबर आई थी कि पार्टी में जारी संकट के बीच सीएम  सुक्खू ने इस्‍तीफे की पेशकश की है। हिमाचल में कांग्रेस (Himachal Congress Crisis) के खेमे में काफी राजनीतिक उथल-पुथल चल रही है। पूर्व मुख्‍यमंत्री वीरभद्र सिंह के बेटे और हिमाचल सरकार में केंद्रीय मंत्री विक्रमादित्य सिंह (Vikramaditya Singh) ने इस्तीफा दे दिया है। विक्रमादित्य सिंह ने आरोप लगाया है कि पार्टी में विधायकों की बात को सुना नहीं जाता है। 

कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने हिमाचल प्रदेश के घटनाक्रम पर कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने पर्यवेक्षकों से सभी विधायकों से बात कर जल्द रिपोर्ट सौंपने को कहा है। कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व ने हिमाचल प्रदेश सरकार पर आए संकट के बीच बुधवार को हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा और कर्नाटक के उप मुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को पार्टी विधायकों से बात करके समाधान निकालने के लिए शिमला भेजा है। 

भाजपा के उम्मीदवार हर्ष महाजन ने कांग्रेस के दिग्गज नेता अभिषेक मनु सिंघवी को हराकर राज्यसभा सीट पर जीत हासिल की। इसके बाद से ही यह राजनीतिक घटनाक्रम देखा जा रहा है। कांग्रेस और भाजपा दोनों उम्मीदवारों को 34 मत मिले जिससे संकेत मिलते हैं कि कांग्रेस के छह विधायकों ने पार्टी के खिलाफ मतदान किया। इसके बाद ‘ड्रॉ' जरिए परिणाम घोषित किए गये।

हिमाचल में नेता प्रतिपक्ष जय राम ठाकुर ने कहा कि मंगलवार को राज्यसभा चुनाव के नतीजों से यह स्पष्ट हो गया कि कांग्रेस सरकार अल्पमत में है और उन्होंने मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू से इस्तीफा देने की मांग की। राज्य विधानसभा की 68 सीटों में से कांग्रेस के पास 40 और भाजपा के पास 25 सीटें हैं। बाकी तीन सीट पर निर्दलीयों का कब्जा है। 

इस बीच हिमाचल प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष कुलदीप सिंह पठानिया ने नेता प्रतिपक्ष जय राम ठाकुर सहित भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के 15 विधायकों को बुधवार को निलंबित कर दिया और फिर सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी। भाजपा विधायकों को मंगलवार को पठानिया के कार्यालय के बाहर मार्शलों के साथ ‘‘दुर्व्यवहार'' करने और सदन में अव्यवस्था पैदा करने के लिए निलंबित किया गया है। निलंबित विधायकों में ठाकुर के अलावा विपिन परमार, विनोद कुमार, हंस राज, जनक राज, बलबीर वर्मा, त्रिलोक जामवाल, दीप राज, सुरेंद्र शौरी, पूरन ठाकुर, इंद्र सिंह गांधी, दिलीप ठाकुर, रणधीर शर्मा, लोकेंद्र कुमार और रणवीर सिंह हैं।

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने हिमाचल प्रदेश में राज्यसभा चुनाव के बाद तेज हुई राजनीतिक सरगर्मी के बीच बुधवार को आरोप लगाया कि पर्वतीय राज्य में कांग्रेस बिखरी नजर आ रही है और इसकी जिम्मेदार वह खुद है। उन्होंने यहां एक कार्यक्रम के इतर संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि जिनसे अपनी पार्टी नहीं संभल रही है, वह दूसरों पर ठीकरा फोड़ रहे हैं। उन्होंने कहा, "हिमाचल में कांग्रेस विधायकों का अपनी ही सरकार से भरोसा उठ गया… है। कारण हैं।।। झूठे वादे, झूठी गारंटियां, आपसी अविश्वास, कथनी-करनी में अंतर, कमजोर व लचर नेतृत्व और जनता के बीच जाने में शर्मिंदगी। हिमाचल में कांग्रेस बिखरी नजर आ रही है, टूटी नज़र आ रही है और इसकी जिम्मेदार वो खुद है।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »