12 Jun 2024, 23:43:34 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » World

रूसी विमान ए-320 की साइबेरिया के खेत में कराई इमरजेंसी लैंडिंग, 167 यात्रियों की फूल गई सांसें

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Sep 12 2023 1:38PM | Updated Date: Sep 12 2023 1:38PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

रूस का एक विमान की एक खेत में इमरजेंसी कराना पड़ा है। बड़ी बात यह है कि इस विमान में 167 यात्री सवार थे।  इस संबंध में अधिकारियों ने कहा कि इस विमान में 167 यात्री सवार थे। समाचार एजेंसी 'रायटर' के अनुसार इस रूसी विमान ने ब्लैक सी रिसॉर्ट सोची से साइबेरियाई शहर ओम्स्क के लिए उड़ान भरी। रूसी यात्री एयरबस ए 320 को उड़ान भरने के बाद मंगलवार को साइबेरियाई क्षेत्र में आपातकालीन लैंडिंग करनी पड़ी। अधिकारियों ने नोवोसिबिर्स्क इलाके के जंगल के पास में एक खेत में यूराल एयरलाइंस के विमान की आपात लैंडिंग का फुटेज जारी किया। हालांकि अधिकारियों की ओर सक कहा गया कि इस आपात लैंडिंग के दौरान कोई हताहत नहीं हुआ है।

मॉस्को की विमानन एजेंसी रोसावियात्सिया ने एक बयान में कहा, "मॉस्को के समयानुसार सुबह 5.44 बजे सोची-ओम्स्क के बीच उड़ान भर रहे यूराल एयरलाइंस के A320 विमान की इमरजेंसी लैंडिंग कराना पड़ी। हालांकि सफलतापूर्व लैंडिंग करा दी गई। इसमें कोई हताहत नहीं हुआ है। यह आपात लैंडिंग साइबेरिया के नोवोसिबिर्स्क क्षेत्र में कामेंका गांव के पास कराई गई। बताया जा रहा है कि कुल 167 यात्री सवार थे। इनमें 159 यात्री और 6 चालक दल के सदस्य हैं। बता दें कि मॉस्को के यूक्रेन हमले के बाद पश्चिमी प्रतिबंधों से रूस का विमानन बुरी तरह प्रभावित हुआ है।

ऐसी ही एक घटना रूस में 4 साल पहले हुई थी। तब रूसी विमान ए-321 के पक्षियों के टकराने के बाद विमान को आपातस्थिति में मक्के के खेत में उतारना पड़ा था। अधिकारियों ने कहा कि विमान में 233 लोग सवार थे। हादसे में 23 लोग घायल हो गए थे। यूराल एयरलाइंस ए321 मॉस्को के जुकोव्स्की एयरपोर्ट से 226 यात्रियों और सात क्रू मेंबर्स को लेकर रूसी अधिकार वाले क्रीमिया के सिम्फरोपोल ले जा रही थी। टेक-ऑफ के तुरंत बाद विमान से पक्षी टकरा गया। इसकी वजह से इंजन में आग लग गई थी। तब पायलट ने तत्काल विमान की आपात लैंडिंग का फैसला किया था और मक्के के खेत में विमान को सफलतापूर्वक उतार दिया था। इतने लोगों की जान बचाने के कारण् तब पायलेट को 'हीरो' के रूप में सम्मानित किया गया था।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »