13 Jun 2024, 00:11:04 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

पुलिस ने खाली कराया पहलवानों का धरना स्थल, विपक्षी नेताओं ने कहा-'पूरा देश देख रहा है'

By Dabangdunia News Service | Publish Date: May 28 2023 5:02PM | Updated Date: May 28 2023 5:02PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। जंतर-मंतर पर धरना दे रहे प्रदर्शनकारी पहवानों पर पुलिस ने कड़ी कार्रवाई की है।  पुलिस ने रविवार को जंतर-मंतर पर प्रदर्शनकारी पहलवानों द्वारा लगाए गए टेंट और अन्य प्रतिष्ठानों को हटा दिया है। पुलिस ने सुरक्षा घेरा तोड़ने और कानून प्रवर्तन एजेंसी द्वारा जारी निर्देशों का पालन नहीं करने के आरोप में हिरासत में लिए जाने के बाद पहलवानों को सामान सहित वहां से हटा दिया है। दो ओलंपिक पदक विजेता सहित पहलवानों को महिलाओं की 'महापंचायत' के लिए नए संसद भवन की ओर बढ़ने की कोशिश के दौरान हिरासत में लिया गया था।

”दिम्पेंद्र पाठक, विशेष सीपी (कानून और व्यवस्था) ने कहा कि,“उन्होंने बैरिकेड्स तोड़ दिए और पुलिस द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन नहीं किया। उन्होंने कानून तोड़ा, इसलिए उन्हें हिरासत में लिया गया। पहलवानों को अलग-अलग अज्ञात स्थानों पर ले जाने के तुरंत बाद, पुलिस अधिकारियों ने पहलवानों के चारपाई, गद्दे, कूलर, पंखे और तिरपाल की छत सहित अन्य सामानों को हटाकर विरोध स्थल को साफ करना शुरू कर दिया।

पहलवानों पर की गई पुलिस कार्रवाई की विपक्षी नेताओं की कड़ी निंदा की, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रदर्शनकारियों की तत्काल रिहाई की मांग की। ममता ने कहा-“जिस तरह से दिल्ली पुलिस ने साक्षी मलिक, विनेश फोगट और अन्य पहलवानों के साथ मारपीट की, उसकी कड़ी निंदा करती हूं। यह शर्मनाक है कि हमारे चैंपियंस के साथ इस तरह का व्यवहार किया जाता है। लोकतंत्र सहिष्णुता में निहित है लेकिन निरंकुश ताकतें असहिष्णुता और असंतोष को दबाने पर पनपती हैं। मैं मांग करती हूं कि उन्हें पुलिस द्वारा तुरंत रिहा किया जाए। मैं अपने पहलवानों के साथ खड़ी हूं।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, 'देश का नाम रोशन करने वाले हमारे खिलाड़ियों के प्रति ऐसा व्यवहार बेहद गलत और निंदनीय है।' कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने सत्तारूढ़ भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि उनका "अहंकार इतना बढ़ गया है कि सरकार निर्दयतापूर्वक हमारी महिला खिलाड़ियों की आवाज को अपने जूतों के नीचे दबा रही है।"

पीड़ित पहलवान अपने महासंघ प्रमुख और भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह को पद से हटाने और यौन उत्पीड़न के आरोपों के सिलसिले में उनकी गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। बता दें कि पहलवानों के विरोध स्थल से बमुश्किल एक मील की दूरी पर, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने नई संसद का उद्घाटन किया है। भले ही प्रमुख विपक्षी दलों ने एकता के एक दुर्लभ शो में इस कार्यक्रम का बहिष्कार किया। विपक्षी दलों ने मुख्य रूप से राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के बजाय प्रधानमंत्री के सम्मान करने पर आपत्ति जताई थी।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »