21 Apr 2024, 08:57:10 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

‘महामारी-युद्ध के बाद भी भारत ग्लोबल ब्राइट स्पॉट’, इंडिया एनर्जी वीक के उद्घाटन पर बोले PM

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Feb 6 2023 4:36PM | Updated Date: Feb 6 2023 4:36PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को कर्नाटक पहुंचे।  जहां उन्होंने बेंगलुरु में इंडिया एनर्जी वीक 2023 कार्यक्रम में इंडियन ऑयल द्वारा विकसित सोलर कुकिंग सिस्टम के ट्विन-कुकटॉप मॉडल का अनावरण किया।  कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहा कि देश के लिए अगले पांच साल नवीकरणीय ऊर्जा, हाइड्रोजन और अमोनिया सहित ऊर्जा के नए अवतारों के उत्पादन के लिए बहुत महत्वपूर्ण होने वाले हैं।  पीएम ने कहा कि महामारी और युद्ध के बावजूद भारत एक ‘ग्लोबल ब्राइट स्पॉट’ रहा है।  प्रधानमंत्री ने कहा, हमारा लक्ष्य देश में नंबर-1 इलेक्ट्रॉनिक वाहन निर्माण करना है और हमारे पास इलेक्ट्रॉनिक वाहन नीति भी है जो निवेशकों के अनुकूल है।  21वीं सदी के विश्व का भविष्य तय करने में ऊर्जा क्षेत्र की बहुत बड़ी भूमिका है।  ऊर्जा के नए संसाधन के विकास में ऊर्जा संक्रमण में आज भारत विश्व की सबसे मजबूत आवाजों में से एक है।  विकसित बनने का संकल्प लेकर चल रहे भारत में ऊर्जा क्षेत्र के लिए अभूतपूर्व संभावनाएं बन रही हैं। 

प्रधानमंत्री मोदी ने बेंगलुरु को टेक्नोलॉजी, टैलेंट और इनोवेशन की एनर्जी से भरा एक शहर बताया है।  पीएम ने कहा मेरी तरह आप भी यहां के युवा ऊर्जा को अनुभव कर रहे होंगे।  ये भारत की जी-20 प्रेसिडेंसी कैलेंडर का पहला बड़ा एनर्जी इवेंट है।  उन्होंने कहा कि IMF की ओर से हाल ही में किए सर्वे से पता चलता है कि भारत दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्यवस्था बना रहेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने भाषण में तुर्की में सोमवार को आए भीषण भूकंप का भी जिक्र किया।  पीएम मोदी ने कहा कि इस समय तुर्की में आए भूंकप पर हम सभी की नजर बनी हुई है।  कई लोगों की मौत और काफी नुकसान की खबरें भी हैं।  इसके साथ-साथ तुर्की के आसपास के देशों में भी नुकसान की आशंका है।  पीएम ने कहा कि भारत भूंकप पीड़ितों की हर संभव मदद के लिए तत्पर है।  पीएम मोदी ने कहा, भारत का गैस पाइपलाइन नेटवर्क अगले चार-पांच साल में मौजूदा के 22,000 किलोमीटर से बढ़कर 35,000 किलोमीटर पर पहुंच जाएगा।  भारत के पास दुनिया में चौथी सबसे बड़ी कच्चे तेल के शोधन की क्षमता है।  करोड़ों लोग गरीबी से निकलकर मध्यम वर्ग की श्रेणी में आए।  भारत पेट्रोल में 20 प्रतिशत एथनॉल मिलाने के लक्ष्य की ओर बढ़ रहा है। 

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »