27 Feb 2024, 13:06:55 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news

देश में नफरत एवं हिंसा BJP एवं मोदी सरकार की देन: राहुल गांधी

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Feb 11 2024 7:43PM | Updated Date: Feb 11 2024 7:43PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

रायगढ़। वरिष्ठ कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने देश में नफरत एवं हिंसा के लिए भाजपा एवं मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि नफरत एवं हिंसा फैलाने वाले देश के हितैषी नही हो सकते। गांधी ने आज यहां जन नायक चौक में लोगो को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि आज जो भी देश में हिंसा फैल रही है उसकी वजह भाजपा और नरेंद्र मोदी की सरकार है। देश के लोगों के साथ अन्याय किया जा रहा है। मणिपुर में दो समुदाय को आपस में हिंसा में झोंक दिया। मणिपुर जल रहा है, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी वहां नहीं गए। मुझे भी वहां से जाने से रोका गया।

उन्होने कहा की देश के किसान, गरीब, पिछड़े वर्ग, आदिवासी, दलितों महिलाओं के साथ अन्याय किया जा रहा है। वह अन्याय आर्थिक और सामाजिक रूप में की जा रही है। देश में अन्याय का बीज बोकर नफरत और हिंसा फैलाई जा रही है। सभा के दौरान उन्होंने पास में बैठाए गए बच्चो से पूछा की आप अन्याय वाले हिंदुस्तान में रहना चाहते हो या न्याय वाले हिंदुस्तान में रहना चाहते हो इस पर बच्चे समेत भीड़ ने कहा न्याय के हिंदुस्तान में रहना चाहते हैं। साथ बैठी बच्ची ने कहा की भारत में इसलिए रहना चाहती हूं कि मुझे अपने देश से बहुत प्यार है। बच्ची की बात पर श्री गांधी ने कहा कि जो बात देश के प्रधानमंत्री को समझ आई वो बात इस बच्ची ने दो लाइन में कह दिया।
 
उन्होंने कहा की जो देश में नफरत फैलाते हैं वो देश प्रेमी नहीं होते है।श्री गांधी ने नरेंद्र मोदी पर सवालिया निशान लगाते हुए कहा की पहले हिंदुस्तान के इतिहास में कभी नहीं हुआ होगा जो प्रधानमंत्री मोदी ने किया है जिन युवाओं ने पांच साल मेहनत कर पसीना बहाया उन्हें सेना में नौकरी नहीं दी। एक लाख 50 हजार युवा भटक रहे हैं सेना में उनकी भर्ती हो गई थी बाद में उनकी भर्ती रद्द कर दी गई और कहा गया हम नहीं लेंगे। हिंदुस्तान के इतिहास में यह पहली बार हुआ। नियुक्ति हो जाने के बाद भी उन्हें नहीं लिया गया। गांधी ने कहा कि पहले आर्मी में जाने पर आर्मी उसकी और उसके परिवार की रक्षा करता था अब मोदी जी अग्नि वीर बना रहे हैं जिसकी कोई सुरक्षा नहीं है और चार साल के बाद चार में से एक को आर्मी में लिया जाएगा और बाकि को कोई सुरक्षा नहीं। अग्निवीर बॉर्डर पर लड़ते हुए अगर गोली लग जाने से शहीद हो जाता है तो उसे शहीद का दर्जा नहीं दिया जाएगा। पहले आर्मी में डिफेंस की फैक्ट्री से बनी राइफल बंदूके खरीदी जाती थी अब सारा हथियार देने अडानी को ठेका दे दिया गया है। देश की रक्षा में जिन भी हथियारों और उपकरणों की जरूरत होती है उसे एक एक कर अडानी जी कंपनी को दे दिया गया। देश का सब कुछ एक व्यक्ति अडानी को दे दिया जा रहा है।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »