27 Nov 2022, 13:26:57 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news

रोहिणी, पीतमपुरा की 21 सड़कों का जीर्णोद्धार करवाएगी दिल्ली सरकार

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Sep 6 2022 4:10PM | Updated Date: Sep 6 2022 4:10PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली । दिल्ली सरकार ने रोहिणी और पीतमपुरा की 16.22 किमी लम्बी 21 सड़कों के सुदृढ़ीकरण और सौन्दर्यीकरण के लिए 13.66 करोड़ रुपये की परियोजनाओं को मंजूरी दी है। सार्वजनिक निर्माण मंत्री मंत्री मनीष सिसोदिया ने मंगलवार को यहां कहा कि दिल्ली की सड़कों को सुंदर, सुरक्षित और विश्व स्तरीय बनाने के विज़न के तहत सरकार दिल्ली की सड़कों के सुदृढ़ीकरण को लेकर मिशन मोड में काम कर रही है| उन्होंने बताया कि सड़कों के सुदृढ़ीकरण के साथ-साथ इनके सौन्दर्यीकरण का कार्य भी किया जाएगा। साथ ही उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि निर्माण कार्य के दौरान सेफ्टी-सिक्योरिटी और क्वालिटी के सभी मानकों का प्रतिबद्धता से पालन सुनिश्चित किया जाए।
 
इसके तहत पीतमपुरा के रोड नंबर 37 एक्स्टेंशन, अभिनव मॉडल स्कूल रोड, अहिंसा पथ रोड, एनपी-एमपी रोड, महाराजा अग्रसेन रोड, एस.पी.स्कूल रोड, गोपाल मंदिर रोड, कैनाल रोड, रामलीला ग्राउंड रोड के साथ-साथ रोहिणी की दर्जनभर सड़कों का जीर्णोधार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि दिल्ली में क्रमबद्ध तरीके से पीडब्ल्यूडी के अंतर्गत आने वाली सड़कों को बेहतर बनाने का काम किया जा रहा है। इन सड़कों के पुराने हो जाने के कारण उसकी ऊपरी सतह पर दरार आदि देखने को मिली, जिससे कई जगहों पर वाहनों की आवाजाही अवरुद्ध होती थी, इसे देखते हुए सरकार द्वारा पीडब्ल्यूडी को इन सभी सड़कों के सुदृढ़ीकरण का काम तुरंत शुरू करने एके निर्देश दिए गए हैं।
 
उप-मुख्यमंत्री ने कहा कि केजरीवाल सरकार दिल्ली के लोगों को सुरक्षित, सुगम और सुंदर सड़क मुहैया कराने के लिए प्रतिबद्ध है। सरकार का विज़न अपने नागरिकों को विश्व स्तरीय सड़कें उपलब्ध करवाकर उन्हें यात्रा का बेहतर अनुभव देना है| इस कारण इन सड़कों के सुदृढ़ीकरण के लिए पीडब्ल्यूडी दिल्ली द्वारा विभिन्न आधुनिकतम टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जा रहा है जिससे दिल्ली की सड़कें यात्रियों की आवाजाही के लिए अधिक सुरक्षित बन सकें।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »