13 Aug 2020, 20:34:34 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » World

कोरोना में ना घर का-ना घाट का रहा ये शख्स, 120 दिनों से एयरपोर्ट पर...

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 14 2020 12:30AM | Updated Date: Jul 14 2020 12:31AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

कोरोना वायरस ने लोगों की जिंदगी को काफी प्रभावित किया है। इस वायरस की वजह से कई देश जहां लाशों के ढेर में बदल गए, वहीं कई लोगों की जिंदगी इसे प्रभावित हुई। कुछ लोग जहां इस वायरस के कारण बेरोजगार हो गए तो ऐसे कई लोग भी हैं, जिनका इस वायरस ने सबकुछ छीन लिया। इस वायरस ने कुछ लोगों को ऐसी स्थिति में पहुंचा दिया, जिसकी उन्होंने कल्पना भी नहीं की थी। मामला बैंकॉक से सामने आया है। यहां एक टूरिस्ट ने अपनी स्टोरी सोशल मीडिया पर शेयर की है। शख्स बीते 20 मार्च से मनिला एयरपोर्ट पर फंसा है। 

शख्स की पहचान रोमन ट्रॉफीव के रूप में हुई। ये शख्स मनिला इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर फंसा है। ये 20 मार्च को ही बैंकॉक पहुंचा था। लेकिन इसे देश के अंदर एंट्री नहीं मिली क्यूंकि फिलीपीन्स ने उसी दिन से वीजा एंट्री पर रोक लगा दी थी। लेकिन इस शख्स की बदकिस्मती इतने तक ही नहीं रुकी। ना तो इसे देश के अंदर एंट्री मिली ना ही ये वापस जा पाया। कारण? उसके घर ईस्टोनिया  जाने के लिए सारी फ्लाइट्स कैंसिल कर दी गई थी। 

शख्स एयरपोर्ट पर ही रहने को मजबूर है। उसने तस्वीरों में दिखाया कि कैसे वो एयरपोर्ट पर सोता है। साथ ही खाने के लिए वो वहीँ के स्टाफ्स पर निर्भर है। उसने सबसे मदद की गुहार लगाईं है। उसे ना तो एयरपोर्ट से बाहर निकलने दिया जा है ना ही वो वापस अपने देश ही जा सकता है। फोटोज के सामने आने के बाद कई लोगों ने मनिला सरकार से शख्स की मदद की अपील करते हुए कहा कि बेचारे को या तो देश में एंट्री दे दी जाए या उसे वापस भेज दिया जाए। शख्स द्वारा अपनी स्टोरी शेयर करते ही लोगों को ईरानी रिफ्यूजी मेहरान करीमी की याद आ गई, जो 1988 से 2006 तक एयरपोर्ट पर फंसा रह गया था। उसकी जिंदगी पर एक फिल्म भी बन चुकी है।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »