28 Feb 2020, 13:11:54 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
zara hatke

इस जगह के लोग अपने गुप्तांग को क्यों बना रहे हैं गोरा, वजह...

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Feb 13 2020 9:40AM | Updated Date: Feb 13 2020 9:40AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। थाईलैंड के बैंकॉक के लोगों को इन दिनों अजीबोगरीब शौक लग गया है। ऐसी दीवानगी जिसकी वजह से सवाल उठ रहे हैं। बैंकॉक के लीलक्स हॉस्पिटल ने कुछ महीने पहले महिलाओं के वजाइना को गोरा करने के लिए एक सर्विस शुरू की थी। अब यहां हर महीने करीब 100 पुरुष भी अपने गुप्तांग को गोरा करने के लिए ट्रीटमेंट करा रहे है। वजाइना को गोरा करने की सर्विस शुरू करने के बाद ही पुरुष अपने गुप्तांग को गोरे करने के लिए सवाल पूछने लगे थे। हॉस्पिटल ने लोगों के रुझान को देखते हुए पुरुषों के लिए भी इस सर्विस को लॉन्च कर दिया। हॉस्पिटल की ओर से इस सर्विस की जानकारी फेसबुक पर दी गई थी और वह पोस्ट वायरल हो गया। अब थाईलैंड की सरकार ने लोगों को इस ट्रीटमेंट के खतरों के बारे में चेतावनी जारी की है।

अन्य एशियाई देशों की तरह थाईलैंड में लोग गोरे दिखने की कोशिश करते हैं और काले को कमतर मानने का चलन है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, लीलक्स हॉस्पिटल बॉडी व्हाइटनिंग के लिए ही जाना जाता है। लेजर व्हाइटनिंग के जरिए पुरुषों के गुप्तांग को गोरा करने का हॉस्पिटल दावा करता है। स्किन एंड लेजर डिपार्टमेंट की एक मैनेजर ने कहा कि हॉस्पिटल इस ट्रीटमेंट को लेकर खासा सतर्क रहता है, क्योंकि यह बॉडी का सेंसिटिव पार्ट है। उन्होंने कहा कि ज्यादातर क्लाइंट 22 से 55 साल की उम्र के होते हैं। इसमें एलजीबीटी कम्यूनिटी के लोग भी शामिल हैं। हॉस्पिटल ने पिछले साल 3डी वजाइना नाम की सर्विस शुरू की थी इसको लेकर काफी विवाद भी हुआ था। हॉस्पिटल व्हाइटिंग सर्विस के लिए करीब 41 हजार रुपए चार्ज करता है। इस दौरान 5 सेशन होते हैं।

 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »