21 Sep 2021, 22:15:32 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news

रूसी स्पुतनिक वी का उत्पादन भारत की मोरपेन लैब्स ने किया शुरू

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 7 2021 6:00PM | Updated Date: Jul 7 2021 6:04PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

मॉस्को। फार्मा प्रमुख मोरपेन लेबोरेटरीज ने हिमाचल प्रदेश में रूसी स्पुतनिक वी कोरोनावायरस वैक्सीन के परीक्षण बैच का उत्पादन शुरू कर दिया है। कंपनी ने यह जानकारी दी। वैक्सीन की पहली खेप गुणवत्ता नियंत्रण के लिए रूस के गामालेया सेंटर में भेजी जाएगी। स्पुतनिक वी, जिसे अप्रैल में भारत में आपातकालीन उपयोग की अनुमति दी गई थी, कोवैक्सिन और कोविशील्ड के बाद देश में राष्ट्रव्यापी कोविड टीकाकरण कार्यक्रम के लिए लॉन्च किया जाने वाला तीसरा वैक्सीन था।
 
रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष (आरडीआईएफ) और मोरपेन ने जून 2021 में प्रौद्योगिकी हस्तांतरण के लिए एक सहयोग समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। आरडीआईएफ ने इससे पहले भारत में अन्य दवा कंपनियों - ग्लैंड फार्मा, हेटेरो बायोफार्मा, पैनासिया बायोटेक, स्टेलिस बायोफार्मा और विरचो बायोटेक के साथ समझौते किए थे।
 
"चूंकि महामारी अभी खत्म नहीं हुई है और दुनिया के विभिन्न क्षेत्रों में कोरोनावायरस के अधिक खतरनाक रूपों का पता लगाया जा रहा है, आरडीआईएफ भारत में स्पुतनिक वी के उत्पादन के लिए क्षमता बढ़ा रहा है, जो प्रमुख केंद्रों में से एक है।"
 
आरडीआईएफ के सीईओ किरिल दिमित्रीव ने कहा, "मोरपेन लेबोरेटरीज के साथ समझौता भारत और हमारे भागीदारों दोनों के लिए दुनिया में सबसे अच्छे टीकों में से एक के साथ टीकाकरण में तेजी लाने के लिए स्पुतनिक वी की एक बड़ी मात्रा उपलब्ध कराएगा।"
 
आरडीआईएफ ने प्रति वर्ष स्पुतनिक वी की 850 मिलियन से अधिक खुराक के उत्पादन के लिए भारत में भागीदारों के साथ सहमति व्यक्त की है। अब तक, स्पुतनिक वी को 3.5 अरब से अधिक लोगों की कुल आबादी वाले 67 देशों में पंजीकृत किया गया है।
 
मोरपेन लेबोरेटरीज के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक सुशील सूरी ने कहा, "भारत में स्पुतनिक वी उत्पादन की प्रतिष्ठित परियोजना के लिए आरडीआईएफ के साथ साझेदारी करके हमें खुशी हो रही है। भारत में उत्पादन आधार के विस्तार पर संयुक्त रूप से काम करना हमारे लिए सौभाग्य की बात होगी।"
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »