27 Jan 2022, 17:12:50 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

डॉक्टर्स और हेल्थ वर्कर्स ओमीक्रॉन को लेकर लोगों में जागरूकता फैलाएं: मनोज सिन्हा

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Dec 5 2021 5:22PM | Updated Date: Dec 5 2021 5:22PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

जम्मू। कोरोना के नए वेरिएंट को लेकर जम्मू-कश्मीर के लोग लापरवाह नजर आ रहे हैं और ऐसे में डॉक्टर्स समेत हेल्थ वर्कर्स को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स का सहारा लेना चाहिए, ताकि लोगों में कोरोनावायरस के ओमीक्रॉन वेरिएंट के प्रति जागरूकता फैलाई जाए। जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने शेर ए कश्मीर इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस की 39वीं एनुअल डे कार्यक्रम में भाग लेते हुए ये बातें कही। मनोज सिन्हा ने जहां शेर ए कश्मीर इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस समेत कोविड में काम करने वालों की सराहना की, तो वहीं जम्मू-कश्मीर में स्वास्थ्य क्षेत्र में विकास और विकसित बनाए जाने के केंद्र के उद्देश्य को साफ किया। मनोज सिन्हा के अनुसार पिछले साल अगस्त में उनके जम्मू-कश्मीर आने के समय यहां के अस्पतालों में केवल 14,000 एलपीएम ऑक्सीजन जेनरेशन की क्षमता थी, जो आज 1 लाख एलपीएम से अधिक हैं और जिसमें शेर ए कश्मीर इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस की बहुत भूमिका हैं। मनोज सिन्हा ने कहा कि केंद्र की तरफ से जम्मू-कश्मीर का हेल्थ सेक्टर हमेशा प्राथमिकता में रहा है और देश के सभी राज्यों से ज्यादा हेल्थ सेक्टर में बजट एलोकेशन जम्मू-कश्मीर का ही है, जो कुल बजट का 5 फीसदी से ज्यादा है। उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि 1456 करोड़ रुपए इस वित्तीय वर्ष में हेल्थ सेक्टर को मजबूत बनाने के लिए एलोकेट किया गया था। इससे अधिक 7200 करोड़ रुपए से अन्य इंफ्रास्ट्रक्चर के प्रोजेक्ट्स नए बनाए जा रहे हैं। इस साल में अधिक 850 करोड़ खर्च करके हेल्थ के 94 बड़े प्रोजेक्ट्स पूरे किए गए हैं।
 
उपराज्यपाल ने कहा कि आज ये बात कहना गलत नहीं होगा कि हेल्थ सेक्टर में जिस स्पीड और स्केल पर काम हुआ है, वो रेटिंग में भी साफ और स्पष्ट नजर आता है। उनके अनुसार प्रधानमंत्री की व्यक्तिगत रुचि से जम्मू- कश्मीर में 7 मेडिकल कॉलेज, 2 शेर ए कश्मीर इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस, 2 कैंसर इंस्टिट्यूट और भी अन्य वेलनेस सेंटर्स मिले हैं। साथ ही कहा कि 7 मेडिकल कॉलेज में से 5 कॉलेज शुरू भी हो गए हैं। 2 नए मेडिकल कॉलेज उधमपुर और हंदवाड़ा इनका काम भी शुरू हो गया है और शेर ए कश्मीर इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस अवंतीपोरा का भी काम शुरू हो गया है और उमीद है कि आने वाले 2 सालों में ये भी पूरा होगा और ये काम करने लगेगा। वैक्सीनेशन को लेकर उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि पहला डोज 100 फीसदी हुआ है जबकि दूसरा डोज 80 फीसदी तक हुआ है।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »