14 Jun 2021, 21:29:44 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

सिरसा के गांवों में स्कूल बनाए गये होम आइसोलेशन सैंटर

By Dabangdunia News Service | Publish Date: May 15 2021 3:25PM | Updated Date: May 15 2021 3:25PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

सिरसा।  हरियाणा में सिरसा समेत कोरोना के बढ़ते मामले और विशेषकर इस महामारी के ग्रामीण क्षेत्रों तक पहुंच जाने पर गांवों में स्कूलों को आइसोलेशन सेंटर में तब्दील कर दिया गया है। सिरसा जिला उपायुक्त प्रदीप कुमार ने ओटू, मोहम्मदपुरिया और खारियां गांवों के स्कूलों में बनाए गए होम आइसोलेशन सैंटरों के निरीक्षण कर वहां दवाइयां, बैड, पेयजल, बिजली,  शौचालय जैसी मूलभूत व्यवस्थाओं सुविधाओं जायजा लिया तथा इस सम्बंध में ड्यूटी पर तैनात  अधिकारियों और कर्मचारियों को आवश्यक दिशानिर्देश दिए। इस अवसर बीडीपीओ  अनिल कुमार, ग्राम सचिव अनिल, सरपंच अमर सिंह, सरपंच प्रतिनिधि रोहताश,  निर्मल सिंह नम्बरदार, समाजसेवी नारायणसिंह, संदीप गोदारा, मांगेराम, आशा  वर्कर कौशल्या, सुमन सहित गांव के गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।
 
जिला उपायुक्त ने कहा कि जिन ग्रामीणों को गला खराब, जुकाम, खांसी और बुखार आदि लक्षण हैं वे तुरंत कोरोना सम्बंधी दवाएं लेना शुरू कर दें।  समय पर लिया गया उपचार गम्भीर स्थिति से बचाव करेगा और अस्पताल में दाखिल  होने की नौबत नहीं आएगी। गांव के सरपंच और गणमान्य व्यक्ति कोरोना लक्षण  वाले लोगों को प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराई जा रही कोविड दवाई के बारे  में जानकारी देने के साथ इसे लेने के लिए प्रेरित भी करें।
 
उपायुक्त ने होम आइसोलेशन सैंटर का निरीक्षण करने के दौरान  खंड विकास पंचायत अधिकारी(बीडीपीओ) को निर्देश दिए कि गांव में प्रत्येक कोरोना लक्षण वालों तक मेडिकल  किट पहुंचाएं। उन्होंने आशा और आंगनवाड़ी वर्करों को सर्वेक्षण के दौरान लक्षण वाले लोगों को कोविड दवा देने को कहा। होम  आइसोलेशन सैंटरों में सभी आवश्यक बचाव उपायों का पालन किया जाए और साफ-सफाई  का विशेष ध्यान रखा जाए। उन्होंने कहा कि कोविड प्रबंधन सम्बंधी किसी भी  चीज की जरूरत हो तो तुरंत उच्च अधिकारियों को अवगत कराएं ताकि समय पर  जरूरी सामान उपलब्ध कराया जा सके।  
 
उन्होंने उपस्थित  गणमान्य व्यक्तियों को कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना का फैलाव तेजी  से हो रहा है, इसे रोकने के लिए ग्रामीणों को एकजुट होकर पूरी सजगता से  कोविड नियमों का पालन करना होगा और ठीकरी पहरे के माध्यम से बाहर से आने जाने  वालों पर निगरानी करनी होगी तभी गांव में कोरोना महामारी की  रोकथाम कर सकेंगे। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »