27 Jul 2021, 07:25:56 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Sport » Cricket

दीपक चाहर को टॉप 50 खिलाड़ियों में भी नहीं चुना गया था, ऑस्ट्रेलियाई कोच ने किया था बाहर

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 21 2021 8:45PM | Updated Date: Jul 21 2021 8:46PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के चैंपियन गेंदबाज दीपक चाहर ने श्रीलंका के खिलाफ बल्लेबाजी से मैच का पासा पलट दिया। टी20 में भारत की तरफ से पहली हैट्रिक लेने का कमाल करने वाले इस खिलाड़ी के नाम इस फॉर्मेट का सबसे बेहतरीन गेंदबाजी का विश्व रिकॉर्ड दर्ज है। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर और टीम इंडिया के कोच पद से हटाए गए ग्रैग चैपल ने दीपक चाहर का करियर खत्म करना चाहा था। इस बेहतरीन गेंदबाज को उन्होंने ना सिर्फ टीम में रखने से मना कर दिया था बल्कि यह भी कहा था कि कोई और काम तलाश लें।

श्रीलंका के खिलाफ भारतीय टीम ने तीन मैचों की वनडे सीरीज में मंगलवार को 2-0 की अजेय बढ़त हासिल की। लगातार दो मैच जीतने के साथ ही सीरीज पर भारत का कब्जा हो गया है। इस मैच में श्रीलंका ने भारत के सामने 9 विकेट पर 275 रन बनाए थे। जवाब में भारतीय टीम ने 49.1 ओवर में 7 विकेट गंवाकर लक्ष्य हासिल किया। दीपक ने नाबाद 69 रन की पारी खेलते हुए टीम के हार के जीत तक पहुंचाया। टीम ने 194 रन पर 7 विकेट गंवा दिए थे और इसके बाद उन्होंने भुवनेश्वर कुमार के साथ मिलकर 84 रन की अटूट साझेदारी निभाई।

पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट कर इस बात का खुलासा किया है कि चाहर का करियर चैपल बर्बाद करना चाहते थे। जब साल 2008 में राजस्थान क्रिकेट टीम के लिए चाहर खेलने चाहते थे तो ट्रायल में उनको चैपल ने लंबाई की वजह से छांट दिया था। चैपल ने टॉप 50 की लिस्ट में भी जगह नहीं दी थी। प्रसाद ने यहां तक लिखा है कि कैसे इस युवा खिलाड़ी को मनोबल तोड़ते हुए चैपल ने उनको क्रिकेट छोड़कर किसी और चीज को पेशा बनाने का सलाह दी थी।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »