26 May 2020, 05:40:45 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Sport » Other Sports

भारतीय पहलवानों को मार्च तक करना होगा इंतजार

By Dabangdunia News Service | Publish Date: May 4 2020 6:31PM | Updated Date: May 4 2020 6:32PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। भारत के चार पहलवान टोक्यो ओलम्पिक के लिए देश को कोटा दिला चुके हैं और शेष पहलवानों को अपनी ओलम्पिक उम्मीदों के लिए मार्च 2021 तक इन्तजार करना होगा। कुश्ती की विश्व संस्था यूनाइटेड वर्ल्ड रेसंिलग ने टोक्यो ओलम्पिक खेलों के लिए कॉन्टिनेंटल क्वालीफायर्स के मेजबान देशों की घोषणा की है कि चीन, मोरक्को और हंगरी क्वालीफायर्स की मेजबानी करेंगे। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के कारण टोक्यो ओलम्पिक को जुलाई 2021 तक स्थगित कर दिया गया है। 
 
अगले वर्ष सबसे पहला क्वालीफायर चीन के जियान शहर में होगा जिसमें भारतीय पहलवानों को अपनी चुनौती पेश करने का मौका मिलेगा। भारत के अब तक चार पहलवानों दीपक पुनिया (86 किग्रा), बजरंग पुनिया (65 किग्रा), रवि दहिया (57 किग्रा) और विनेश फोगाट (53 किग्रा) ने पिछले वर्ष की विश्व चैंपियनशिप में पदक हासिल करने के अपने प्रदर्शन के जरिये ओलम्पिक कोटा हासिल किया था और उनका यह कोटा अगले वर्ष भी बना रहेगा।
 
मोरक्को का अल जदीदा अफ्रीका और ओसनिया के संयुक्त क्वालीफायर की मेजबानी करेगा जबकि हंगरी की राजधानी बुडापेस्ट में यूरोपियन क्वालीफायर होगा। सभी तीनों कॉन्टिनेंटल क्वालीफायर अगले वर्ष मार्च में होंगे और हर श्रेणी में दो स्थान उपलब्ध होंगे। बुल्गारिया की राजधानी सोफिया में विश्व क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट होगा जिससे ओलम्पिक के लिए आखिरी स्थान निर्धारित होंगे।
 
भारत ने पिछले तीन ओलम्पिक में कुश्ती में लगातार पदक जीते हैं। सुशील कुमार ने 2008 के बीजिंग ओलम्पिक में कांस्य पदक, सुशील ने 2012 के लंदन ओलम्पिक में रजत और योगेश्वर दत्त ने कांस्य पदक तथा साक्षी मालिक ने 2016 के रियो ओलम्पिक में कांस्य पदक जीता था।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »