19 Jul 2024, 17:55:46 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » World

पाक‍िस्‍तान की बड़ी बेइज्‍जती! PM मोदी के साथ बैठक कर सीधे लौटे सऊदी क्राउन प्रिंस

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Sep 12 2023 4:22PM | Updated Date: Sep 12 2023 4:22PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

इस्लामाबाद। जी-20 शिखर सम्मेलन में भाग लेने और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के साथ द्विपक्षीय बैठक करने के बाद सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान (Mohammed bin Salman Al Saud) वापस लौट गए हैं। हालांक‍ि उनके सऊदी अरब लौटते वक्‍त पाक‍िस्‍तान कयास लगा रहा था क‍ि वो रास्‍ते में पड़ने वाले अपने इस्लामाबाद पड़ाव पर ठहराव करेंगे। लेक‍िन सऊदी क्राउन प्र‍िंस ने पाक‍िस्‍तान के अरमानों पर पानी फेरते हुए इस्‍लामाबाद में कोई ठहराव नहीं ल‍िया। इससे पाकिस्तानी अधिकारियों को काफी निराशा भी हुई है। सऊदी क्राउन सलमान ने सोमवार को भारत की अपनी तीन दिवसीय यात्रा समाप्त की।

ब‍िजनेस र‍िकॉर्डर की र‍िपोर्ट के मुताब‍िक सूत्रों की माने तो हालांकि सऊदी क्राउन प्रिंस की संक्षिप्त यात्रा निर्धारित नहीं थी। लेक‍िन फिर भी पाकिस्तान उम्मीद कर रहा था कि राज्य के वास्तविक शासक इस्लामाबाद में रुकेंगे। ऐसी इसल‍िए उम्‍मीद की जा रही थी क‍ि सऊदी क्राऊन प्रिंस ने फरवरी 2019 में नई दिल्ली जाने से पहले ऐसा किया था। ऐसी अटकलें लगाई जा रहीं थीं क‍ि मोहम्मद बिन सलमान, जो सऊदी अरब के प्रधानमंत्री भी हैं, जी-20 शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए भारत की अपनी यात्रा से पहले या बाद में एक संक्षिप्त प्रवास के दौरान इस्‍लामाबाद पहुंचेंगे।

विदेश कार्यालय की प्रवक्ता मुमताज ज़हरा बलूच ने गत शुक्रवार को अपनी साप्ताहिक मीडिया ब्रीफिंग के दौरान एक सवाल का जवाब देते हुए इस बात की पुष्टि करने में असमर्थता जताई कि सऊदी क्राउन प्रिंस भारत आते समय पाकिस्तान जाएंगे या नहीं। उन्होंने एक सवाल का जवाब देते हुए कहा क‍ि जहां तक ​​क्षेत्र से किसी उच्च स्तरीय यात्रा का सवाल है, हम इस स्तर पर कोई घोषणा करने की स्थिति में नहीं हैं। एक बार ऐसी यात्रा की पुष्टि हो जाने पर हम घोषणा करेंगे। हालांक‍ि, विशेष निवेश सुविधा परिषद (SIFC) के सूत्रों ने कहा कि अधिकारी उत्सुक थे कि सऊदी क्राउन प्रिंस इस्लामाबाद में मौजूदा व्यवस्था के समर्थन का संकेत देने के लिए यह यात्रा करें।

 

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »