30 Jul 2021, 23:15:03 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android

मुंबई। घरेलू शेयर बाजार सुबह की तेजी से उबरते हुये आज लगातार तीसरे दिन चढ़ते हुये नये रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुये। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 76.77 अंक यानी 0.15 प्रतिशत की छलांग लगाकर 52,551.53 अंक पर पहुंच गया। यह पहली बार 52,500 अंक के पार बंद हुआ है। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 12.50 अंक यानी 0.08 प्रतिशत की बढ़त के साथ 15,811.85 अंक के रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुआ। यह पहली बार 15,800 अंक के पार बंद हुआ है।
 
रिलायंस इंडस्ट्रीज के साथ ही ऊर्जा, आईटी और टेक क्षेत्र की कंपनियों में लिवाली से शेयर बाजार नई ऊँचाई पर पहुँचने में कामयाब रहा। बिजली, रियलिटी और इंडस्ट्रियल्स समूहों की कंपनियों में बिकवाली का जोर रहा।  कोविड-19 के मामलों में लगातार आ रही कमी और कई राज्य सरकारों द्वारा प्रतिबंधों में ढील देने से अर्थव्यवस्था को लेकर निवेशकों का विश्वास मजबूत हुआ है। महंगाई के आँकड़ों से पहले शेयर बाजार पर दबाव रहा। हालाँकि बाद में दिग्गज कंपनियों में लिवाली सेंसेक्स और निफ्टी हरे निशान में लौटने में सफल रहे, लेकिन मझौली और छोटी कंपनियों के सूचकांक गिरावट में ही बंद हुये।
 
बीएसई का मिडकैप 0.68 फीसदी लुढ़ककर 22,771.12 अंक पर और स्मॉलकैप 0.16 प्रतिशत की गिरावट के साथ 25,075.42 अंक पर आ गया। पिछले कारोबारी दिवस ये भी रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुये थे। सेंसेक्स की कंपनियों में डॉ. रेड्डीज लैब का शेयर 3.03 प्रतिशत मजबूत हुआ। पावरग्रिड में 1.97 प्रतिशत, टीसीएस में 1.73 प्रतिशत, इंफोसिस में 1.56 प्रतिशत, एचसीएल टेक्नोलॉजीज में 1.54 प्रतिशत और रिलायंस इंडस्ट्रीज में 1.39 प्रतिशत की तेजी रही। एलएंडटी का शेयर 1.07 फीसदी लुढ़क गया। अधिकतर विदेशी बाजारों में तेजी देखी गई। एशिया में जापान का निक्केई 0.74 प्रतिशत और दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.09 प्रतिशत की मजबूती में बंद हुआ। यूरोप में शुरुआती कारोबार में ब्रिटेन का एफटीएसई 0.52 प्रतिशत और जर्मनी का डैक्स 0.30 प्रतिशत की बढ़त में रहा।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »