13 Jun 2021, 11:46:46 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news

भीषण हो सकता है ताउ ते तूफान, PM मोदी रख रहे नज़र, 5 राज्यों में NDRF टीमें तैनात

By Dabangdunia News Service | Publish Date: May 15 2021 3:39PM | Updated Date: May 15 2021 3:39PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। भारतीय मौसम विभाग के अनुसार चक्रवाती तूफान ताउ ते अगले 12 घंटे में भीषण से अति भीषण तूफान का रूप धारण कर सकता है और मंगलवार तक इसके गुजरात तट से टकराने की उम्मीद है। मौसम विभाग ने बताया कि ताउ ते के मंगलवार को अपराह्न पोरबंदर तथा नालिया के बीच गुजरात तट से टकराने के आसार हैं। मौसम विभाग के मुताबिक ताउ ते इस समय पूर्वी-मध्य तथा दक्षिण-पूर्व अरब सागर में मौजूद है और पिछले छह घंटों से 11 किलोमीटर की रफ्तार से उत्तर-पश्चिमोत्तर की ओर बढ़ रहा है। यह सुबह साढ़े आठ बजे पूर्वी-मध्य और दक्षिण-पूर्व अरब सागर के आसपास के 12.8 डिग्री उत्तरी अक्षांश और 72.5 डिग्री पूर्वी देशांतर में अमिनी दिवि से लगभग 190 किलो मीटर उत्तर-पश्चिमोत्तर में, गोवा के पंजिम से 330 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम, वेरावल (गुजरात) 930 किमी दक्षिण-दक्षिण-पूर्व और कराची (पाकिस्तान) से 1020 किमी दक्षिण-दक्षिण-पूर्व में स्थित है।
 
मौसम विभाग ने कहा, ‘‘ इसके अगले छह घंटों के दौरान ‘भीषण चक्रवाती तूफान’ और बाद के 12 घंटों के दौरान ‘अति भीषण चक्रवाती तूफान’ में तब्दील होने की संभावना है। इसके उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और 18 मई की दोपहर/शाम के आसपास पोरबंदर और नलिया के बीच गुजरात तट को पार करने की बहुत आसार हैं।
 
मौसम विभाग ने बताया कि गुजरात और दीव तटों को चक्रवात की निगरानी में रखा गया है। यह इस साल का पहला चक्रवाती तूफान है। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन बल (एनडीआरएफ) की 50 से अधिक टीमों को पांच राज्यों-केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु, गुजरात और महाराष्ट्र में लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाने तथा राहत एवं बचाव अभियान के लिए तैनात किया गया है। संबंधित राज्यों ने तटीय भागों में राज्य आपदा प्रबंधन बल (एसडीआरएफ) की टीमों को भी तैनात किया है।
 
 इन राज्यों के विभिन्न हिस्सों में रेड तथा ऑरेंज अलर्ट जारी कर दिया है। लक्षद्वीप के निचले इलाकों में बाढ़ आने की अनुमान है। मछुआरों को मंगलवार तक अरब सागर में नहीं जाने को कहा गया है, जबकि पर्यटन गतिविधियों पर रोक लगा दी गयी और नौसैनिक अभियानों के लिए आवश्यक सावधानी बरतने की सलाह दी गई है।
 
केरल, कर्नाटक और गोवा के तटीय जिलों में रविवार तक बहुत भारी से अत्यधिक भारी वर्षा होने,  अचानक बाढ़ और भूस्खलन होने के आसार हैं। मंगलवार और बुधवार को गुजरात के सौराष्ट्र, कच्छ में बारिश होने का अनुमान है। भारतीय नौसेना और भारतीय तटरक्षक बल की टीमों को भी अलर्ट पर रखा गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  आज शाम तूफान से उत्पन्न होने वाली स्थिति को लेकर समीक्षा बैठक करेंगे। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »