26 Sep 2020, 16:03:37 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

PM मोदी ने वीर सपूतों के साथ कोरोना योद्धाओं को भी दी श्रद्धांजलि

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Aug 15 2020 1:35PM | Updated Date: Aug 15 2020 1:35PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश की रक्षा में प्राण न्यौच्छावर करने वाले भारत मां के सपूतों के साथ-साथ आज देश भर के कोरोना यौद्धाओं को भी श्रद्धांजलि दी और नमन किया। मोदी ने 74वें स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले की प्राचीर से राष्ट्रीय ध्वज फहराने के बाद कहा कि आजादी और भारत मां की रक्षा के लिए अपने प्राणों का बलिदान करने वाले यौद्धाओं के कारण ही हम खुली हवा में सांस ले रहे हैं। समूचा राष्ट्र इन  जांबाजों को अपने श्रद्धा सुमन अर्पित कर रहा है। 
 
उन्होंने कहा कि आजादी का यह पर्व इस बार देश असाधारण परिस्थिति में मना रहा है और भारत के साथ साथ पूरी दुनिया कोरोना महामारी की चुनौती का सामना कर रही है। देशवासियों ने अपने संकल्प और सामर्थ्य से इस चुनौती का हिम्मत के साथ सामना किया है। देश के कोरोना यौद्धाओं ने चौबीस घंटे दिन रात एक कर अपने सेवा भाव से लोगों की सेवा की। उन्होंने कहा - कोरोना के इस असाधारण समय में, सेवा परमो धर्म: की भावना के साथ, अपने जीवन की परवाह किए बिना हमारे डॉक्टर्स, नर्से, पैरामेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस कर्मी, सफाई कर्मचारी, पुलिसकर्मी, सेवाकर्मी, अनेको लोग, चौबीसों घंटे लगातार काम कर रहे हैं। 
 
प्रधानमंत्री ने कहा कि वह इन सब कोरोना यौद्धाओं को नमन करते हैं। इस दौरान कई लोगों ने सेवा करते हुए अपनी जान गंवा दी देश इन सभी को नमन करते हुए श्रद्धांजलि देता है और इनके परिवारों के प्रति कृतज्ञता और संवेदना व्यक्त करता है। उन्होंने कहा कि भारत ने हमेशा प्रतिकूल परिस्थितियों में अपने आत्मविश्वास और संकल्प से सफलता हासिल की है। देश कोरोना महामारी के खिलाफ भी जल्द ही विजयी होगा। 
 
मोदी ने कहा कि गुलामी का कोई कालखंड ऐसा नहीं था जब हिंदुस्तान में किसी कोने में आजादी के लिए प्रयास नहीं हुआ हो, प्राण-अर्पण नहीं हुआ हो।  देश में आजादी की ललक ऐसी थी कि उसने दो दो विश्व युद्धों के दौरान भी अपने इस संकल्प को कमजोर नहीं होने दिया और विस्तारवादी ताकतों के मंसूबों को असफल कर आजादी हांसिल की। उन्होंने कहा कि यह इस बात का प्रतीक है कि देश एक बार जो ठान लेता है उसे पूरा करके दम लेता है। देश ऐसे ही एक दिन कोरोना को भी हराकर दम लेगा। लाल किले पर ध्वाजारोहण से पहले श्री मोदी सुबह सात बजे राजघाट पहुंचे और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »