03 Mar 2021, 23:58:28 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

26 जनवरी को कांग्रेस ने किसानों को हिंसा के लिए उकसाया : प्रकाश

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jan 28 2021 12:54AM | Updated Date: Jan 28 2021 12:56AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी ने आरोप लगाया है कि 26 जनवरी को किसान कानूनों को वापस लेने की माँग को लेकर हुई ट्रैक्टर रैली के दौरान कांग्रेस ने किसानों को हिंसा के लिए उकसाया था। भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने बुधवार को यहाँ संवाददाता सम्मेलन के दौरान कहा कि ट्रैक­टर परेड की आड़ में जो हिंसा हुई उसके पीछे कांग्रेस जैसी सियासी ताकतें थीं। उन्होंने कहा कि कल के यूथ कांग्रेस और कांग्रेस से संबंधित संस्थाओं के ट्वीट इसके प्रमाण हैं। 

जावडेकर ने कहा,‘‘जिन्होंने भी 26 जनवरी को किसानों को उकसाया उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। लाल किले पर तिरंगे का अपमान हुआ उसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है।’’ उन्होंने कहा,‘‘कांग्रेस हताश और निराश है, चुनाव में हार रहे हैं, वामपंथियों की भी वही हालत है। इसलिए पश्चिम बंगाल में नई दोस्ती का रिश्ता ढूंढ रहे हैं। कांग्रेस किसी भी तरह से देश में अशांति फैलाना चाहती है। राहुल गांधी किसानों का समर्थन नहीं कर रहे थे वे बल्कि उन्हें उकसा रहे थे।’’ 

भाजपा नेता ने कहा, ‘‘पंजाब में कांग्रेस की सरकार है। पंजाब सरकार ने पंजाब से निकलने वाले ट्रैक्टर पर पाबंदी नहीं लगाई। कांग्रेस की रैली हुई, सड़क पर आने की बात हुई और दूसरे दिन लोग सड़क पर आ गए। कांग्रेस ट्रैक्टर मार्च के समर्थन में खड़ी थी। कांग्रेस के एक ट्वीट ने तो एक्सीडेंट में मरे किसान को पुलिस बर्बरता के चलते बता दिया। जब पूरे देश से सवाल उठे तब राहुल जी का बयान आया हिंसा किसी समस्या का समाधान नहीं।’’ उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस चाहती है कि पुलिस सख़्ती करे और जान माल की हानि हो। 

जावडेकर ने कहा कि सरकार ने किसानों के साथ बातचीत के दरवाजे बंद होने की बात कभी नहीं कही है। गौरतलब है कि किसानों की मांगों को लेकर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की सड़कों पर मंगलवार को गणतंत्र दिवस के मौके पर किसानों की ओर से निकाली गयी ट्रैक्टर परेड के दौरान हिंसा के कारण अराजक माहौल पैदा हो गए थे। बड़ी संख्या में उग्र प्रदर्शनकारी बैरियर तोड़ते हुए लाल किला पहुंच गए और उसकी प्राचीर पर एक धार्मिक झंडा लगा दिया था।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »