18 Jan 2021, 19:08:45 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

किसान आंदोलन को हाईजैक करने पर तुली कांग्रेस : सुशील

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Dec 3 2020 12:49AM | Updated Date: Dec 3 2020 12:57AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

पटना। बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कांग्रेस पर कृषि सुधार कानूनों के विरोध में दिल्ली में किसानों के चल रहे आंदोलन को हाईजैक करने का आरोप लगाया और कहा कि कृषकों को सम्मान देने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनका अहित नहीं करेंगे।

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता मोदी ने बुधवार को यहां भाजपा विधानमंडल दल की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली के ताजा किसान आंदोलन में जिस तरह के नारे लगे और जिस तरह से इसे शाहीनबाग मॉडल पर चलाया जा रहा है, उससे साफ है कि किसानों के बीच टुकडे-टुकडे गैंग और नागरिकता संशोधन कानून विरोधी ताकतों ने हाईजैक करने में कोई कसर नहीं छोडी है। उन्होंने कहा कि देश के 90 प्रतिशत किसानों को भरोसा है कि जिस प्रधानमंत्री ने उन्हें मृदा हेल्थ कार्ड और नीम लेपित यूरिया से लेकर किसान सम्मान योजना तक का लाभ दिया वह कभी किसानों का अहित नहीं करेंगे। विपक्ष का असत्य पराजित होगा। 

मोदी ने कहा कि तीन नये कृषि कानून न मंडी व्यवस्था के खिलाफ हैं और न ही फसलों पर मिलने वाले न्यूनतम समर्थन मूल्य से इसका कोई लेनादेना है। लेकिन, कांग्रेस ने अपने शासन वाले पंजाब में पूरी ताकत झोंक कर किसानों के एक वर्ग में यह डर पैदा किया कि मंडियां खत्म हो जाएंगी और एमएसपी बंद हो जाएगा। उन्होंने कहा कि सच यह है कि मंडियां न केवल जारी रहेंगी बल्कि सरकार उन्हें मजबूत करने के लिए करोड़ों रुपये खर्च कर रही है। 

एमएसपी में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार ने भारी वृद्धि की। जब तथ्य किसानों के पक्ष में हैं तब हताश कांग्रेस केवल आशंका और अविश्वास को तूल देकर अस्थिरता पैदा करने की राजनीति कर रही है। भाजपा नेता ने कहा कि कृषि कानून से खेती लाभकारी होगी लेकिन कांग्रेस और उसके वामपंथी दोस्त किसानों में भ्रम फैला रहे हैं कि इससे बडे कॉर्पोरेट को फायदा होगा। उन्होंने कहा कि सच यह है कि अब छोटे किसान भी सुनिश्चित मुनाफे के लिए आधुनिक तकनीक से खेती कर सकेंगे।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »