06 Dec 2021, 14:47:26 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Business » Stock market

Share Market: सेंसेक्स 149 पॉइंट के उछाल से नए रिकॉर्ड पर पहुंचा, निफ्टी 18,000 अंक के पास

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Oct 12 2021 6:25PM | Updated Date: Oct 12 2021 6:25PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्‍ली। बैंक, वाहन और टिकाऊ उपभोक्ता सामान कंपनियों के शेयरों में लिवाली से सेंसेक्स मंगलवार को 149 अंक की बढ़त के साथ 60,284 अंक के अपने नए रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया। सेंसेक्स में लगातार चौथी कारोबारी सत्र में तेजी का सिलसिला जारी रहा। उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 148.53 अंक यानी 0.25 प्रतिशत की बढ़त के साथ 60,284.31 अंक के अपने सबसे उच्चस्तर पर पहुंच गया। निफ्टी का भी यह नया रिकॉर्ड है। सेंसेक्स की कंपनियों में टाइटन का शेयर सबसे अधिक पांच प्रतिशत से ज्यादा चढ़ गया। बजाज ऑटो, बजाज फिनसर्व, एसबीआई, नेस्ले इंडिया, आईटीसी, एक्सिस बैंक और टाटा स्टील के शेयर भी लाभ में रहे। वहीं दूसरी ओर एचसीएल टेक, टेक महिंद्रा, अल्ट्राटेक सीमेंट, टीसीएस और सन फार्मा के शेयरों में गिरावट आई। पिछले चार कारोबारी सत्रों में सेंसेक्स 1,095 अंक या 1.84 प्रतिशत चढ़ चुका है। वहीं निफ्टी 345 अंक या 1.95 प्रतिशत के लाभ में रहा है। बीएसई मिडकैप और स्मॉलकैप 0.65 प्रतिशत तक चढ़ गए। एलकेपी सिक्योरिटीज के शोध प्रमुख एस रंगनाथन ने कहा, ‘दिन में कारोबार के दौरान सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के शेयरों में काफी गतिविधियां देखने को मिलीं। दोपहिया वाहनों और टिकाऊ उपभोक्ता कंपनियों के शेयर भी मांग में रहे। हालांकि, आईटी कंपनियों के शेयरों में मुनाफावसूली का सिलसिला चला। कारोबार के अंतिम घंटे में एल्युमीनियम की अगुवाई में मेटल के शेयरों में लिवाली से बाजार को समर्थन मिला।
 
जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘तिमाही नतीजों के सत्र की कमजोर शुरुआत से आईटी शेयरो में बिकवाली रही। इसके लिए कमजोर वैश्विक रुख से भी यहां धारणा प्रभावित हुई। इससे घरेलू बाजार ज्यादातर समय नकारात्मक दायरे में रहा.’ उन्होंने कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों और टिकाऊ उपभोक्ता सामान कंपनियों के शेयरों को मिले जबर्दस्त समर्थन से बाजार अंतत: सकारात्मक रुख के साथ बंद हुआ। अन्य एशियाई बाजारों में चीन के शंघाई कम्पोजिट, हांगकांग के हैंगसेंग, जापान के निक्की और दक्षिण कोरिया के कॉस्पी में गिरावट आई। शुरुआती कारोबार में यूरोपीय बाजारों में भी गिरावट का रुख था। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क ब्रेंट कच्चा तेल 0.26 प्रतिशत की बढ़त के साथ 83.87 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया 16 पैसे टूटकर 75.52 प्रति डॉलर पर बंद हुआ। पिछले सत्र में, 30 शेयरों वाला सूचकांक 76.72 अंक या 0.13 प्रतिशत की तेजी के साथ 60,135.78 पर और निफ्टी 50.75 अंक या 0.28 प्रतिशत चढ़कर 17,945.95 के अपने सर्वकालिक उच्च स्तर पर बंद हुआ था। विदेशी संस्थागत निवेशक (एफआईआई) पूंजी बाजार में शुद्ध विक्रेता थे और शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार उन्होंने सोमवार को 1,303.22 करोड़ रुपये के शेयर बेचे। एशिया के दूसरे प्रमुख शेयर बाजारो में शंघाई, हांगकांग, टोक्यो और सियोल मध्य सत्र सौदों में घाटे के साथ कारोबार कर रहे थे। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड 0.07 प्रतिशत गिरकर 83.59 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया था।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »