06 Dec 2021, 15:03:10 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

अंग्रेजों की दमन वाली राह चल रही है भाजपा सरकार: बघेल

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Oct 4 2021 5:06PM | Updated Date: Oct 4 2021 7:25PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। कांग्रेस के उत्तर प्रदेश के पर्यवेक्षक तथा छत्तीसगढ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि लखीमपुर खीरी में जो कुछ घटित हुआ है उससे जाहिर होता है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार अंग्रेजों से प्रेरित है और वह कृषि संबंधी तीन काले कानूनों के खिलाफ किसानों का दमन कर रही है।
     
बघेल ने सोमवार को यहां पार्टी मुख्यालय में विशेष संवाददाता सम्मेलन में कहा कि छत्तीसगढ, राजस्थान, केरल साहित कई राज्यों की विधान सभाओं ने तीनों किसान विरोधी कानूनों के खिलाफ प्रस्ताव पारित किये हैं। लखीमपुर की घटना ने साबित हो गया है कि भाजपा सरकार किसान विरोधी है और उसके विरुद्ध जो भी आवाज उठाता है उसे दबा दिया जाता है। 
    
कांग्रेस नेता ने कहा कि प्रदेश प्रभारी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को लखीमपुर खीरी जाने से रोका गया और उनके साथ अभद्र व्यवहार किया गया है। प्रदेश के पर्यवेक्षक होने के नाते उन्होंने भी लखीमपुर जाकर पीड़ति परिजनों से मिलने का प्रयास किया लेकिन उन्हें रोक दिया गया। कांग्रेस पार्टी और उनके नेता हमेशा न्याय के साथ रहे हैं और किसानों के साथ हो रहे अन्याय में भी कांग्रेस उनके साथ है। 
     
उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की दमनकारी सरकार किसानों को कुचल रही है। पीडित किसानों की बात सुनने के लिए उनके अलावा श्रीमती वाड्रा, पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी तथा अन्य कई नेताओं ने लखीमपुर जाने का प्रयास किया लेकिन उन्हें जाने से रोका गया है। उन्हें लखीमपुर खीरी जाने से रोका जाना गलत ही नहीं बल्कि अमानवीय भी है। उनका कहना था कि छत्तीसगढ में हाल में एक घटना हुई है लेकिन उनकी सरकार ने किसी को भी घटनास्थल पर जाने से रोका नहीं है।
     
मुख्यमंत्री ने कहा कि लखीमपुर में जो कुछ हुआ है वह हत्या का मामला है और इस घटना को लेकर केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा को तुरंत बर्खास्त किया जाना चाहिए। इस घटना में जिन लोगों की जान गयी है उनके परिजनों को एक करोड़ रुपए का मुआवजा दिया जाना चाहिए। उनका कहना था कि मिश्रा अपने पुत्र को बचाना चाहते हैं इसलिए सबसे पहले उन्हें मंत्रिमंडल से हटाया जाना चाहिए।
      
कांग्रेस नेता ने कहा कि यह आश्चर्य की बात है कि उत्तर प्रदेश में रविवार को इतनी बडी घटना हुई लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बारे में एक शब्द नहीं बोला है। उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री ने जिस उदंड भाषा -सुधर जाओ वरना सुधार लिये जाओगे- का इस्तेमाल किया है उसे देखते हुए श्री मोदी को उन्हें तत्काल केंद्रीय मंत्रिमंडल से हटा देना चाहिए। उनका आरोप था कि भाजपा लाशों पर राजनीति करती है और इस पार्टी का देश की आजादी के लिए कोई योगदान नहीं है।
     
कांग्रेस प्रवक्ता गौरव बल्लभ ने कहा कि यह सामान्य घटना नहीं बल्कि बहुत अमानवीय और असंवेदनशील घटना है। यह किसानों के दमन की घटना है और गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त कर इस मामले की उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश से जांच कराई जानी चाहिए। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »