28 Jul 2021, 00:12:47 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Health

कैंसर जैसी बीमारियों से बचाता है आम, रोजाना खाने से होता है इन रोगों से बचाव

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jun 20 2021 5:48PM | Updated Date: Jun 20 2021 5:48PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्‍ली। आम का स्वाद हर किसी को अपनी ओर खींचता है, लेकिन बहुत कम लोग ही जानते हैं कि आम स्वाद के साथ-साथ सेहत का खजाना भी लिए हुए हैं।  इसीलिए आम को हमारे देश में फलों का राजा कहा जाता है।  भारत के आम की डिमांड दुनियाभर में होती है इसकी कई किस्म जैसे दशहरी, लंगड़ा, चौसा, केसर, बादामी, तोतापरी और अल्फांसो खाने में बहुत ही स्वादिष्ट होती हैं।  आम स्वाट के साथ-साथ काफी पौष्टिक भी होता है।  आम खाने से कई तरह की बीमारियों से निजात मिलती है और उनके होने का खतरा भी कम हो जाता है।  आम में विटामिन, मिनरल और एंटी ऑक्सीडेंट्स जैसे तत्व पाए जाते हैं। 
 
इसमें मौजूद विटामिन K ब्लड क्लॉट्स में फायदा पहुंचाता है।  इसमें मौजूद आयरन एनीमिया से भी बचाव करता है।  आम हमारी हड्डियों को भी मजबूत बनाने का काम करता है।  फलों के राजा आम में कई गुणकारी तत्व पाए जाते हैं जो तेजी से बढ़ते वजन को कंट्रोल करने में मदद करते हैं।  एक स्टडी के मुताबिक, आम में मौजूद फाइटोकैमिकल्स शरीर में फैट सेल्स को कम करते हैं।  साथ ही शारीर में ताकत भी बनाए रखते हैं।  कोरोना काल में इम्युनिटी के लिए विटामिन सी युक्त फलों की डिमांड बढ़ जाने से आम इसका एक उपाय हो सकता है।  बता दें कि आम में विटामिन C की प्रचूर मात्रा पाई जाती है।  जो हमारे रक्त वाहिकाओं और हेल्दी कोलेजन को बढाता है। 
 
इसके अलावा आम शरीर के किसी भी तरह के जख्मों को तेजी से भरने में मदद करता है।  आम में विटामिन A भी भरपूर मात्रा में होता है।  एक आम खाने के इतने फायेदे होते हैं कि ये लगभग विटामिन A की दैनिक जरूरत को करीब 25 प्रतिशत तक पूरा कर सकता है। विटामिन A शरीर में रीप्रोडक्शन और इम्यून सिस्टम के लिए भी बहुत जरूरी होता है।  इसके अलावा इसमें विटामिन A होने के कारण आंखों के लिए बेहद महत्वपूर्ण है।  आम की सही क्वांटिटी में खाने से ये जितने फायेदेमंद हैं उतना ही ज्यादा खाना हानिकारक है।  100 ग्राम आम में लगभग 60 कैलोरी होती है।  आम एक ऐसा फल है जो हमारे डायजेस्टिव सिस्टम को मेंटेन रखता है।  आम में एमिलेज कंपाउंड और डायट्री फाइबर कब्ज से भी राहत दिलाते हैं। 
 
 
एमिइलेज कंपाउंड खाद्य पदार्थों को पचाने में मदद करते हैं और कठोर स्टार्च को गला देते हैं।  आम का छिलका भी बहुत लाभदायक होता है।  ये शरीर में फैटी टिशू को बढ़ने से रोकता है।  इतना ही नहीं, शरीर में आम में मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट्स की तरह ही काम करता है।  आम के छिलके को सूखा कर उसके चूर्ण को खाने से पाचनतंत्र मजबूत रहता है।  एक्सपर्ट बताते हैं कि आम हमारे शरीर के कार्डियोवस्क्यूलर सिस्टम को सपोर्ट करता है। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »