12 Apr 2021, 08:05:30 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

देश में फिर बढ़ा कोरोना का कहर, पिछले 24 घंटों में 16,738 नए मामले सामने आए

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Feb 25 2021 11:45AM | Updated Date: Feb 25 2021 12:22PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्‍ली। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों में 16,738 नए कोरोना मामले सामने आए हैं, जिसके बाद भारत में कुल कोरोना केसों की संख्‍या 11,046914 हो गई है। इस वृद्धि के साथ गुरुवार को सक्रिय मामलों की संख्या एक बार फिर 1.5 लाख के स्तर को पार कर गई है।
 
पिछले 24 घंटों में दर्ज की गई 138 मौतों के साथ दैनिक मृत्यु दर में भी वृद्धि हुई है। देश में अभी तक कुल मौतों की संख्या 1,56,705 हो गई है। कई दिनों में पहली बार भारत में सक्रिय कोविड-19 मामलों की संख्या 1.5 लाख से अधिक हो गई है। देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या अब 1,51,708 है और डिस्चार्ज हुए मामलों की कुल संख्या 1,07,38,501 है। वहीं अभी तक देश में कुल 1,26,71,163 लोगों को कोरोना वायरस की वैक्सीन लगाई गई है। फरवरी में यह भी पहली बार है, जब ताजा संक्रमणों की संख्या ने एक दिन में ठीक होने वाले मरीजों की संख्‍या से ज्‍यादा आई हो। 16,738 नए मामले सामने आने के साथ ही भारत ने पिछले 24 घंटों में 11,799 लोग इस महामारी से ठीक हुए हैं।
 
भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) की तरफ से जारी की गई रिपोर्ट के अनुसार, भारत में कल तक कोरोना वायरस के लिए कुल 21,38,29,658 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं, जिनमें से 7,93,383 सैंपल कल टेस्ट किए गए। गुरुवार को अचानक इतने ज्‍यादा मामले सामने आने के लिए महाराष्ट्र सबसे ज्‍यादा जिम्‍मेदार है, क्‍योंकि यहां पर बुधवार को 8,807 नए संक्रमण दर्ज किए गए हैं। अकेले मुंबई ने बुधवार को 1,167 नए कोविड-19 मामले दर्ज किए, जो लगभग चार महीनों में एक दिन में सबसे अधिक हैं।
 
कई राज्यों में मुख्य रूप से महाराष्ट्र में कोविड-19 एक बार फिर से चिंता का कारण बन गया है, क्योंकि अभी तक अचानक सामने आए मामलों के पीछे कोई कारण नहीं पाया गया है। बुधवार को बताए गए 1,181 नए संक्रमणों के साथ नागपुर जिले ने भी कोविड-19 मामलों की उच्च संख्या में योगदान दिया है। स्थिति को ध्यान में रखते हुए केंद्र ने बुधवार को टीमों को 10 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में तेज वृद्धि के पीछे के कारणों का पता लगाने के लिए प्रतिनियुक्त किया है। टीमें महाराष्ट्र, केरल, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, गुजरात, पंजाब, कर्नाटक, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और जम्मू-कश्मीर के अधिकारियों के साथ समन्वय कर आगे का रास्ता तय करेंगी।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »