24 Oct 2021, 05:05:12 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State » Maharashtra

CM उद्धव ठाकरे के दोस्ती वाले बयान से BJP संग गठजोड़ को फिर मिली हवा, देनी पड़ी सफाई

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Sep 17 2021 9:40PM | Updated Date: Sep 17 2021 9:40PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

मुंबई। शिवसेना प्रमुख और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के उस बयान पर महाराष्ट्र में सियासी घमासान तेज हो गया है, जिसमें उन्होंने औरंगाबाद में ‘मराठवाड़ा मुक्ति संग्राम दिन’ पर शुक्रवार को आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान अपने साथ मंच पर बैठे भाजपा सांसद और केंद्रीय मंत्री रावसाहेब दानवे को हांथ दिखाते हुए कहा था कि पुराने मित्र और अब के मित्र एक साथ आए तो एक नई मित्रता बन सकती है। कांग्रेस नेता और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री असलम शेख ने कहा कि राजनीति में कुछ भी संभव है, ‘चली तो शाम तक नहीं तो शाम तक।’ उद्धव के बयान पर एनसीपी नेता और सरकार में मंत्री छगन भुजबल भी प्रतिक्रिया देने से नहीं रुके। उन्होंने कहा कि राजनीति में वैचारिक मतों में भिन्नता हो सकती है, लेकिन राजनीति में सब मित्र हैं। उद्धव ठाकरे के बयान के बहाने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और विरोधी पार्टी नेता देवेंद्र फडणवीस को महा विकास आघाडी सरकार पर हमला करने का मौका मिल गया। उन्होंने कहा, ‘उद्धव ठाकरे को अब पता चल गया कि गलत लोगों के साथ गठबंधन में है, राजनीति में कुछ भी हो सकता है, लेकिन अभी फिलहाल हम विपक्ष की भूमिका में हैं और हम विपक्ष के तौर पर लोगों की आवाज उठाते रहेंगे।’
 
वहीं, शिवसेना सांसद संजय राउत ने उद्धव ठाकरे के बयान पर भाजपा की प्रतिक्रिया को लेकर उनपर तंज कसा और कहा, ‘बीजेपी अगर खुश रहती है तो खुश रहने दो। उनकी जिंदगी में भी कभी खुशी कभी गम आते हैं। दो साल तक गम था, अभी खुशी रहेगी, खुश रहने दो। हमारे पुराने दोस्त हैं वह खुश रहे तो हम खुश रहेंगे। विपक्ष वाले हमेशा खुश रहने चाहिए। बात ऐसी है कि उद्धव जी ने क्या कहा है, उनका स्टेटमेंट क्या है। उन्होंने कहा है किया भावी सरकार, उनका कहने का मतलब है कि बीजेपी के कुछ लोग बीजेपी में आ सकते हैं हम लोग कहीं छोड़कर नहीं जाएंगे। बीजेपी के लोग कहेंगे हमें पूर्व मिनिस्टर मत कहिए यह चंद्रकांत पाटील का बयान है वह जिनको पूर्व कहने से आपत्ति है वह तीनों पार्टी में से किसी में भी जा सकते हैं।’ शिवसेना सांसद ने आगे कहा, ‘बीजेपी के कुछ लोग महा विकास आघाडी में आ सकते हैं। दानवे साहब हमारे मित्र हैं और रेल राज्य मंत्री हैं। महाराष्ट्र के बहुत सारे कार्य रेलवे में पेंडिंग हैं। उन्हें मुख्यमंत्री ने बुलाया है, तो मिलना चाहिए। दानवे जी मेरे पड़ोसी हैं। वह मुझसे भी मिलते हैं। ठीक है देवेंद्र फडणवीस की बात मैं सुन रहा था, लेकिन एक बात साफ है चाहे कोई कुछ भी बोले मन में किसी के भी लड्डू फूटे, लेकिन महा विकास आघाडी का लड्डू हम 5 साल तक खाते रहेंगे। अभी 40 घंटे पूरे हो गए अगले 8 घंटे में क्या होगा कौन सा भूकंप होगा मैं देख रहा हूं।’
 
राउत ने कहा, ‘मैंने आज सुबह कहा है कि मेरी जानकारी है जो चंद्रकांत दादा ने कहा है कि मुझे पूर्व मत कहिए मेरी जानकारी है कि उनको दिल्ली से ऑफर है नागालैंड के राज्यपाल बनाने का। यह उनके ऊपर है वह जाते हैं या नहीं जाते। अभी 3 साल का समय बचा है, यही सरकार उद्धव जी के नेतृत्व में 3 साल पूरे करेगी। किसी के ऊपर किसी का दबाव नहीं है। हम तीनों दल एक साथ रहेंगे और एक साथ काम करेंगे।’
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »