20 Sep 2021, 04:21:14 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State » Maharashtra

BJP से निपटने के लिए शरद पवार ने शुरू की तैयारी, बुलाई विपक्षी दलों की बैठक

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jun 21 2021 6:57PM | Updated Date: Jun 21 2021 8:31PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्‍ली: राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेता शरद पवार ने न केवल 2024 के राष्ट्रीय चुनाव में बल्कि अगले साल होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों को लेकर भी तैयारी शुरू कर दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के खिलाफ संयुक्त लड़ाई लड़ने के लिए उन्‍होंने कल विपक्षी दलों की बैठक बुलाई है।

शरद पवार और बीजेपी के पूर्व नेता यशवंत सिन्हा की तरफ से कई पार्टियों को न्योता भेजा जा चुका है। शरद पवार और यशवंत सिन्हा वर्तमान राष्ट्रीय परिदृश्य पर चर्चा की सह-अध्यक्षता कर रहे हैं।

आमंत्रित लोगों में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता मनोज झा, आम आदमी पार्टी (आप) के संजय सिंह और कांग्रेस नेता विवेक तन्खा और कपिल सिब्बल शामिल हैं। सिब्बल ने कथित तौर पर मना कर दिया है, इसलिए झा ने भी मना कर दिया है। तमिलनाडु में सत्तारूढ़ द्रमुक को अब तक कोई निमंत्रण नहीं मिला है और उसका कहना है कि उसे बैठक की जानकारी नहीं है।

कांग्रेस को आमंत्रित नहीं किए जाने की शुरुआती रिपोर्टों पर प्रतिक्रिया देते हुए पार्टी के महाराष्ट्र नेता नाना पटोले ने कहा, "लोकतंत्र में हर किसी को वह करने का अधिकार है, जो वे चाहते हैं। हम किसी को नहीं रोकेंगे। लेकिन कांग्रेस के बिना कोई मोर्चा नहीं हो सकता है।"

आज दिल्ली में चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर के साथ शरद पवार की चर्चा के बाद विपक्ष की बैठक का विवरण सामने आया। अगले राष्ट्रीय चुनाव में भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन से लड़ने के लिए "मिशन 2024" की योजना के बारे में अटकलों के बीच दोनों दो सप्ताह में दूसरी बार मिले। वे आखिरी बार 11 जून को शरद पवार के मुंबई स्थित आवास पर तीन घंटे तक मिले थे।

सूत्रों का कहना है कि पीएम मोदी को चुनौती देने के लिए एक संयुक्त विपक्षी उम्मीदवार पर बातचीत के अलावा कल की बैठक उत्तर प्रदेश पर ध्यान केंद्रित करने के लिए एक विकल्प विकसित करने की कोशिश करने के लिए एक "खोजपूर्ण अभ्यास" की सुविधा प्रदान करेगी, जहां भाजपा के मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के खिलाफ तीव्र असंतोष है। सूत्रों का कहना है, "भाजपा के कुछ वर्ग चुपचाप पवार का समर्थन कर रहे हैं, जो यह समझ चुके हैं कि पीएम मोदी की लोकप्रियता में भारी गिरावट आई है।"

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »