23 Feb 2020, 00:14:36 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State » Madhya Pradesh

सहिष्णुता की संस्कृति है भारत की पहचान : CM कमलनाथ

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jan 17 2020 2:20PM | Updated Date: Jan 17 2020 2:20PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि देश में मध्यप्रदेश ऐसा प्रदेश हैं, जो विविधताओं से सम्पन्न है और पूरे विश्व में भारत ऐसा देश है जो विविधताओं से पूर्ण है, इस विविधता को सकारात्मक ऊर्जा में बदलना होगा। कमलनाथ आज यहां आरसीवीपी नरोन्हा प्रशासन अकादमी में आईएएस सर्विस मीट 2020 के शुभारंभ सत्र को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि विविधता में भारत की बराबरी करने वाला देश सिर्फ सोवियत संघ था।
 
आज वह अस्तित्व में नहीं है, क्योंकि उसने भारत जैसी सोच.समझ और सहिष्णुता की संस्कृति नहीं थी। उन्होंने कहा है कि जो आईएएस अधिकारी अपनी सेवा यात्रा के मध्य में है, जो सेवा पूरी करने वाले हैं, वे चिंतन करें कि प्रदेश को वे कहां छोड़कर जाना चाहते हैं। जो सेवा यात्रा की शुरूआत कर रहे हैं, वे सोंचे कि वे प्रदेश को कहां देखना चाहते हैं। मुख्यमंत्री ने प्रशासनिक अधिकारियों को न्याय देने वाला बताते हुए कहा कि संविधान में उल्लेखित स्वतंत्रता और समानता जैसे मूल्यों की सीमाएं हो सकती हैं, लेकिन न्याय की कोई सीमा नहीं है। यह हर समय और परिस्थिति में दिया जा सकता है। दृष्टिकोण में परिवर्तन लाने की आवश्यकता है।
 
उन्होंने कहा कि प्रशासनिक अधिकारियों के पास जो क्षमता और कौशल है वह सामान्यत: राजनैतिक नेतृत्व के पास नहीं रहता। उन्होंने कहा कि राजनैतिक नेतृत्व बदलते ही प्रशासनिक तंत्र का भी नया जन्म होता है, लेकिन ज्ञान, कला, कौशल नहीं बदलते। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर नए परिवर्तनकारी विचारों ‘न्यू आइडिया आफ चेंज’ के लिए तीन पुरस्कार देने की भी बात कही। उन्होंने कहा कि इसके लिए पूर्व मुख्य सचिवों की एक ज्यूरी बनाई जाएगी जो सर्वोत्कृष्ट आईडिया चुनेगी।
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि हर राज्य का अपना प्रोफाईल होता है। सबको मिलकर मध्यप्रदेश का प्रोफाईल बनाना होगा। वर्तमान प्रोफाईल को बदलना होगा। मध्यप्रदेश की नई पहचान बनानी होगी। इसके लिए जरूरी है कि प्रदेश में ज्यादा से ज्यादा आर्थिक गतिविधियाँ उत्पन्न हों। उन्होंने कहा कि प्रौद्योगिकी हर पल बदल रही है। पूरा भारत बदल रहा है। ज्ञान और सूचना के भंडार तक आज जो पहुंच बढ़ी है वह पहले नहीं थी।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »