21 May 2022, 15:57:02 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Sport

BCCI से जल्द होगी सौरव गांगुली की छुट्टी

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jan 19 2022 1:49PM | Updated Date: Jan 19 2022 1:49PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। टीम इंडिया के सबसे सफल टेस्ट कप्तान विराट कोहली ने हाल ही में टेस्ट कप्तानी से इस्तीफा देकर वर्ल्ड क्रिकेट को हैरान कर दिया। फैंस विराट कोहली के इस फैसले के पीछे BCCI के अध्यक्ष सौरव गांगुली का हाथ मान रहे हैं। कोहली के टेस्ट की कप्तानी छोड़ने के बाद फैंस ने सोशल मीडिया पर सौरव गांगुली को जमकर निशाने पर लिया. कई फैंस ने सौरव गांगुली के बीसीसीआई के अध्यक्ष पद से इस्तीफे की मांग भी की सौरव गांगुली की जल्द ही BCCI के अध्यक्ष पद से छुट्टी हो सकती है। ऐसा इसलिए, क्योंकि इस साल अक्टूबर में सौरव गांगुली का कार्यकाल खत्म हो जाएगा. सौरव गांगुली के अलावा BCCI के सचिव जय शाह का भी कार्यकाल इस साल अक्टूबर में खत्म हो जाएगा। सौरव गांगुली और जय शाह अक्टूबर 2019 में BCCI के अध्यक्ष और सचिव निर्वाचित हुए थे।

हालांकि, इससे पहले जब दोनों का बीसीसीआई में कार्यकाल 2018 में खत्म हुआ था। तो बीसीसीआई ने कूलिंग ऑफ पीरियड नियम में संशोधन कर कार्यकाल को बढ़ाने की स्वीकृति दी सौरव गांगुली बंगाल क्रिकेट के संघ के संयुक्त सचिव और बाद में अध्यक्ष रह चुके थे. दूसरी ओर, जय शाह गुजरात क्रिकेट संघ के सचिव रहे थे. ऐसे में ये देखना दिलचस्प होगा कि अक्टूबर 2022 के बाद क्या दोनों का कार्यकाल एक बार फिर और भी आगे बढ़ाया जाएगा या नहीं BCCI के नए संविधान के अनुसार, राज्य संघ या बोर्ड में 6 साल के कार्यकाल के बाद 3 साल के कूलिंग ऑफ पीरियड पर जाना अनिवार्य है। गांगुली और शाह ने 2019 अक्टूबर में पदभार संभाला था और तब उनके राज्य और राष्ट्रीय इकाई में छह साल के कार्यकाल में केवल 9 महीने बचे थे!

शीर्ष अदालत में दायर इस याचिका में कहा गया था कि बोर्ड ने 9 अगस्त 2018 से लागू कूलिंग ऑफ पीरियड में जाने के नियम में संशोधन कर अपने पदाधिकारियों के कार्यकाल को बढ़ाने की स्वीकृति दे दी है। लेकिन कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, गांगुली और शाह का कार्यकाल इस साल अक्तूबर में समाप्त हो जाएगा और ऐसे में बीसीसीआई को नया अध्यक्ष मिलने के आसार हैं। गांगुली और शाह के कार्यकाल में कई पूर्व क्रिकेटरों को भारतीय क्रिकेट में अहम जिम्मेदारियां भी मिलीं। इस दौरान राहुल द्रविड़ भारतीय टीम का मुख्य कोच बनने के लिए तैयार हुए तो वहीं वीवीएस लक्ष्मण ने राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी का कार्यभार संभाला. यही नहीं पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को टी-20 वर्ल्ड कप 2021 में भारतीय टीम का मेंटर बनाया गया। इन उपलब्धियों के अलावा सौरव गांगुली बड़े विवादों का हिस्सा भी बने. सौरव गांगुली और विराट के संबंधों पर भी खूब चर्चा हुई. विराट कोहली ने दावा किया था कि उनसे टी-20 कप्तानी को लेकर बोर्ड की ओर से किसी तरह की कोई बातचीत नहीं की गई थी। वहीं, गांगुली ने कहा कि उन्होंने विराट से टी-20 कप्तानी ना छोड़ने को लेकर अनुरोध किया था।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »