20 Sep 2021, 05:28:28 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State » Chhatisgarh

पंजाब, राजस्थान के बाद छत्तीसगढ़ कांग्रेस में कलह, बढ़ीं पार्टी की मुसीबतें

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 27 2021 1:09PM | Updated Date: Jul 27 2021 7:04PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्‍ली। पंजाब, राजस्थान के बाद अब छत्तीसगढ़ में भी कांग्रेस के भीतर जारी घमासान खुलकर बाहर आ रहा है। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस विधायक और स्वास्थ्य मंत्री के बीच कथित विवाद के बीच कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने सोमवार को राज्य विधानसभा का दौरा किया और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और दोनों नेताओं से मुलाकात की। हालांकि कांग्रेस नेताओं से मुलाकात के बाद पुनिया ने इस कथित विवाद पर कहा कि अब मामला समाप्त हो चुका है।
 
प्रदेश के रामानुजगंज विधानसभा सीट से कांग्रेस के विधायक बृहस्पत सिंह ने रविवार को आरोप लगाया था कि शनिवार शाम स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव के इशारे पर सरगुजा जिले के अंबिकापुर शहर में उनके काफिले के एक वाहन पर कथित रूप से हमला किया गया था। विधायक सिंह ने कहा था कि उन्होंने बघेल की तारीफ की थी और कहा था कि वह राज्य के मुख्यमंत्री बने रहेंगे। यह बयान मंत्री सिंहदेव को पसंद नहीं आया और बाद में उनके काफिले पर हमला किया गया। कांग्रेस विधायक ने कहा था कि कथित हमले में तीन लोग थे, जिनमें से एक मंत्री सिंहदेव का दूर का रिश्तेदार था। साथ ही उन्होंने यह भी आरोप लगाया था कि स्वास्थ्य मंत्री से उनकी जान को खतरा है।
 
विधायक सिंह पर हमले के बाद सरगुजा क्षेत्र के विधायक और राज्य के स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने ज्यादा टिप्पणी नहीं की। उन्होंने कहा था कि उनके क्षेत्र और राज्य के लोग उनकी छवि के बारे में अच्छी तरह से जानते हैं। उन्हें इस विषय पर कुछ नहीं कहना है। इधर, छत्तीसगढ़ विधानसभा के मानसून सत्र के पहले ही दिन राज्य के मुख्य विपक्षी दल भाजपा ने इस मामले को लेकर सदन में हंगामा मचाया और सदन की समिति से इस मामले की जांच की मांग की।
 
प्रदेश में कांग्रेस के एक नेता ने बताया कि प्रदेश प्रभारी पुनिया शाम लगभग चार बजे विधानसभा पहुंचे और मुख्यमंत्री से उनके कक्ष में मुलाकात की। इस दौरान बृहस्पत सिंह और एक अन्य विधायक के उपस्थित होने की जानकारी मिली है। कांग्रेस नेता ने बताया कि इसके बाद पुनिया ने विधानसभा अध्यक्ष चरण दास महंत और स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव से भी मुलाकात की।
 
कांग्रेस नेताओं के साथ मुलाकात के बाद पुनिया ने संवाददाताओं से कहा कि उनका विधानसभा दौरा विधानसभा अध्यक्ष, मुख्यमंत्री और अन्य सदस्यों के साथ शिष्टाचार मुलाकात के लिए था और इसे किसी दूसरे अर्थ में नहीं देखा जाना चाहिए। पार्टी विधायक द्वारा मंत्री सिंहदेव पर लगाए गए आरोपों के बारे में पूछे जाने पर पुनिया ने कहा, ‘‘यह मामला समाप्त हो गया है। एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की गई है। अब इस बारे में दोनों ओर से कोई बात नहीं कही जा रही है।’’ सरगुजा जिले में इस घटना के बाद वाहन चालक की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया है। इस मामले में पुलिस ने 3 लोगों को गिरफ्तार किया है।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »