24 Oct 2021, 05:46:44 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Business » Other Business

Indian Banks Association अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने में अदा करे भूमिका: वित्त मंत्रालय

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Sep 16 2021 1:11AM | Updated Date: Sep 16 2021 1:11AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। वित्त मंत्रालय ने Indian Banks Association (IBA) से भारत की आजादी के 75 वें साल में अर्थव्यवस्था को दोबारा से रफ्तार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए आग्रह किया है। वित्तीय सेवा सचिव देबाशीष पांडा ने इस बारे में कहा कि "इस समय मैं आईबीए के अध्यक्ष से पूंजीकरण के लिए अच्छे सक्षम संसाधनों और प्रौद्योगिकी को अपनाने का आग्रह करूंगा। आईबीए को केवल एक ऐसे संघ के तौर पर काम नहीं होना चाहिए जो आरबीआई को बैंकिंग मुद्दों को पारित करता है, बल्कि इस संगठन को विकास को बढ़ावा देने के लिए आर्थिक सुधारों के साथ एकीकृत करने का प्रयास भी करना चाहिए।" IBA के दिल्ली कार्यालय का उद्घाटन करते हुए, वित्तीय सेवा के सचिव ने यह सुझाव दिया कि "एसोसिएशन मध्यम प्रबंधन बैंकिंग पेशेवरों को प्रशिक्षण और कौशल प्रदान करने पर भी विचार कर सकता है ताकि बैंकों को एक ही काम में लगने वाले बोझ को कम किया जा सके।" नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने कहा कि वर्ल्ड ऑर्डर में बदलाव के लिए यह एक अच्छा समय है। नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने कहा, आर्थिक सुधारों को मजबूत करने के लिए World Order में बदलाव का उपयुक्‍त है समय
 
इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि "अनुसंधान और प्रमुख बैंकिंग मुद्दों के संदर्भ में आईबीए की महत्वपूर्ण भूमिका है और इस संगठन को भारत की आजादी के 75वें वर्ष में अर्थव्यवस्था के पुनरुत्थान में महत्वपूर्ण भूमिका निभानी है।" इस अवसर के दौरान, आईबीए के अध्यक्ष राजकिरण राय ने कहा कि "आईबीए का परिवर्तन 2018 में शुरू हुआ और अब यह केवल वकालत की तुलना में व्यावसायिक पक्ष के संचालन में अधिक निकटता से शामिल है।"
 
IBA के CEO सुनील मेहता ने इस बारे में बयान देते हुए कहा कि "आईबीए ग्राहकों के लिए विशेष रूप से महामारी के दौरान नए समाधान खोजने में शामिल है और संपूर्ण बैंकिंग प्रणाली के एकजुट कामकाज के लिए दिशानिर्देश लेकर आया है। इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि, "एसोसिएशन ने कॉरपोरेट लेंडिंग सिस्टम, सिंडिकेट लेंडिंग और मल्टीपल फाइनेंसिंग जैसे मुद्दों से निपटने सहित सुधारों को आगे बढ़ाया है।"
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »