28 Nov 2021, 14:21:19 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
entertainment

NCB की गवाह किरण गोसावी के खिलाफ धोखाधड़ी का नया केस, जानें पूरा मामला

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Oct 18 2021 8:54PM | Updated Date: Oct 18 2021 8:54PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्‍ली। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) को शर्मसार करते हुए पुणे पुलिस ने क्रूज शिप छापे के मामले में उसके एक स्वतंत्र गवाह किरण पी. गोसावी के खिलाफ धोखाधड़ी जालसाजी का मामला दर्ज किया है। यह गवाह इस समय फरार है। अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। पुणे का मामला पालघर पुलिस द्वारा गोसावी के खिलाफ दो साल पुरानी इसी तरह की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज किए जाने के एक दिन बाद आया है। पुणे पुलिस ने मामला तब दर्ज किया, जब राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता व मंत्री नवाब मलिक ने गोसावी के पहले के कारनामों का खुलासा किया।
 
शिकायतकर्ता चिन्मय देशमुख ने दोनों (गोसावी व कुरैशी) पर 2018 में मलेशिया में उच्च वेतन वाली नौकरी दिलाने का लालच देकर उनसे 300,000 रुपये से अधिक ऐंठने के बाद धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया है। पुणे पुलिस ने मुंबई से किरण गोसावी की सहयोगी शेरबानू कुरैशी को गिरफ्तार कर लिया है। एडवान गांव के दो अन्य व्यक्तियों, आदर्श केनी उत्कर्ष तारे ने पालघर में गोसावी के खिलाफ शिकायत की है। उनका दावा है कि 2018 में कुआलालंपुर के होटलों में अच्छी नौकरी के बहाने उनसे 1.65 लाख रुपये ठगे गए। 2 अक्टूबर को एक क्रूज जहाज पर एनसीबी के हाई-प्रोफाइल छापे में किरण गोसावी की साख पर से पर्दा उठने के बाद पुणे पुलिस ने दो विशेष दस्ते बनाए हैं, जो इस राज्य पड़ोसी राज्यों में उसकी तलाश कर रहे हैं। वह वर्तमान में कम से कम 4 मामलों का सामना कर रहा है 14 अक्टूबर को पुणे पुलिस ने उसके लिए लुकआउट नोटिस जारी किया है।
 
पुलिस सूत्रों ने कहा कि गोसावी कथित तौर पर फर्जी वीजा हवाई टिकट रैकेट में शामिल था। अपने पीड़ितों से पैसे इकट्ठा करने के बाद वह विदेश भागने की फिराक में था, इसलिए उसे मुंबई हवाईअड्डे या अन्य हवाईअड्डों में प्रवेश करने से रोक दिया गया था। पुलिस की प्रारंभिक जांच के अनुसार, गोसावी खुद के भारतीय जनता पार्टी से जुड़े एक निजी जासूस होने का दावा करता है। वह अपने आकर्षक जीवनशैली के लिए जाना जाता है। वह अपने सहयोगियों के साथ मिलकर कई भोले-भाले युवाओं के साथ धोखाधड़ी कर चुका है। गोसावी मुंबई व अन्य शहरों में अपनी शाखाओं प्रतिनिधियों के साथ मिलकर एक कंपनी चलाता है। वह कथित तौर पर कुछ पुलिस नारकोटिक्स विभाग के अधिकारियों के साथ संबंध रखता है।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »