27 Jul 2021, 07:48:44 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
entertainment » Bollywood

मुंबई पुलिस का दावा- राज कुंद्रा की कंपनी पोर्न से जुड़ी ब्रटिश कंपनी के लिए कर रही थी काम

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 21 2021 12:38AM | Updated Date: Jul 21 2021 9:24AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। मुंबई पुलिस ने मंगलवार को दावा किया कि अश्लील फिल्म मामले में गिरफ्तार कारोबारी राज कुंद्रा की कंपनी लंदन स्थित कंपनी के लिए भारत में अश्लील सामग्री का निर्माण कर रही थी। ब्रिटिश कंपनी उनके करीबी रिश्तेदार की है। बॉलीवुड अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा को पुलिस की अपराध शाखा ने मामले में सोमवार की रात को गिरफ्तार किया। 

पुलिस के मुताबिक उनका संबंध अश्लील सामग्री बनाने और कुछ ऐप के जरिये प्रसारित करने से है। कुंद्रा को मंगलवार को अदालत में पेश किया गया जहां से उन्हें 23 जुलाई तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि कुंद्रा की वियान इंडस्ट्रीज का समझौता लंदन की कंपनी केनरिन से था जो 'हॉटस्पॉट' ऐप की मालिक है।

संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) मिलिंद भारम्बे ने संवाददाता सम्मेलन में बताया, ' कंपनी लंदन में पंजीकृत है, लेकिन सामग्री का निर्माण, ऐप का परिचालन और लेखा जोखा का प्रबंधन कुंद्रा की कंपनी वियान इंडस्ट्रीज के जरिये किया जाता था।' उन्होंने बताया कि केनरिन का मालिक कुंद्रा का रिश्तेदार है। अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने दोनों कंपनियों का संबंध स्थापित करने के लिए सबूत एकत्र किए हैं। 

भारम्बे ने बताया कि पुलिस ने दोनों के बीच व्हाट्सऐप समूह और ई-मेल पर संदेशों का आदान-प्रदान, लेखाजोखा और कुछ अश्लील फिल्म कुंद्रा के मुंबई स्थित कार्यालय पर छापेमारी के दौरान बरामद की है। उन्होंने कहा, 'अपराध में संलिप्तता के सबूत एकत्र करने के बाद हमने राज कुंद्रा और उसके आईटी प्रमुख रेयान थोर्पे को गिरफ्तार किया। 

अधिकारी ने बताया, 'मामले में हमारी जांच जारी है।' पुलिस ने सोमवार को दावा किया था कि मामले में कुंद्रा 'मुख्य साजिशकर्ता' है। उन्होंने बताया कि मुंबई के उपनगर मालवानी पुलिस थाने में चार फरवरी को इस संबंध में प्राथमिकी दर्ज की गई थी।

मामले में अप्रैल में आरोप पत्र दाखिल करने के बावजूद कुंद्रा की गिरफ्तारी में देरी के सवाल पर भारम्बे ने कहा कि मामले को मजबूत करने के लिए कई इलेक्ट्रॉनिक सबूतों की जांच करने की जरूरत थी। पुलिस द्वारा कोई दंडात्मक कार्रवाई करने से पहले रुपयों के हस्तांतरण, अकाउंट के असली मालिक का पता लगाना, सामग्री और प्रकाशक को सत्यापित करना था। 

उन्होंने बताया कि पुलिस ने पाया कि विभिन्न खातों में रुपये हस्तांतरित किए गए हैं। वहीं अश्लील फिल्म गिरोह के पीड़ितों को महज कुछ हजार रुपये मिलते थे। जांच के दौरान प्रकाश में आया कि आम्र्सप्राइम नाम कंपनी ने केनरिन के लिए ऐप (हॉटस्पॉट) बनाया, अलग ऐप भी था। वियान इंडस्ट्रीज का केनरिन के साथ सामग्री निर्माण और पैसों को लेकर करार था और इसके लिए ब्रिटिश कंपनी कुंद्रा की कंपनी को पैसे हस्तांतरित करती थी।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि ऐप के इस्तेमाल के एवज में उपयोकर्ता से मिलने वाली राशि केनरिन के नाम पर आती थी लेकिन उसका प्रबंधन मुंबई में होता था। भारम्बे ने बताया कि मुंबई की अपराध शाखा के पास मामला आने से पहले गिरोह के बारे में महाराष्ट्र साइबर शाखा के पास शिकायत आई थी। दो महिलाओं की शिकायत पर मालवानी पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज की जबकि एक अन्य महिला ने मुंबई से 120 किलोमीटर दूर लोनावला पुलिस के समक्ष शिकायत दर्ज कराई।

मुंबई पुलिस की अपराध शाखा ने कुछ शिकायतकर्ताओं द्वारा मालवाली पुलिस थाने में संपर्क किए जाने के बाद फरवरी 2021 में मामले की जांच शुरू की। जांच में खुलासा हुआ कि कुछ छोटे कलाकारों को वेब सीरिज और लघु फिल्म में काम करने का मौका देने का लालच दिया जाता था। इसके बाद उन्हें ऑडिशन के नाम पर उत्तेजक सीन फिल्माने के बहाने उनकी इच्छा के विपरीत अर्धनग्न या नग्न सीन फिल्मा लिए जाते थे। 

जांच के दौरान पुलिस को अश्लील सामग्री पेश करने वाले कई अन्य ऐप की भी जानकारी मिली जिसके बाद पुलिस ने निर्माता रोमा खाना, उनके पति, अभिनेत्री गहना वशिष्ठ, निदेशक तनवीर हाशमी और उमेश कामथ (जो कुंदा की कंपनी के भारत में कारोबार को देखते थे) को गिरफ्तार किया। अधिकारी ने बताया कि अबतक मामले में 11 लोगों की गिरफ्तारी हुई है। अपराध शाखा ने विभिन्न ऐप संचालकों की 7.5 करोड़ रुपये की राशि जब्त की है।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »