06 Dec 2020, 07:25:40 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

मुख्यमंत्री शिवराज ने कमलनाथ के साथ ही दिग्विजय को भी लिया निशाने पर

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Oct 26 2020 12:25AM | Updated Date: Oct 26 2020 12:26AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

मंदसौर। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज राज्य के दो पूर्व मुख्यमंत्रियों कमलनाथ और दिग्विजय सिंह पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस छोड़ने वाले नेताओं को 'बिकाऊ' कहने के पहले उन्हें अपने गिरेबां में झांकना चाहिए। चौहान ने मध्यप्रदेश के सुवासरा विधानसभा क्षेत्र के अधीन आने वाले गुराड़यिा प्रताप में भाजपा प्रत्याशी हरदीप सिंह डंग के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित किया। उन्होंने आज भोपाल में कांग्रेस और विधायकी छोड़कर भाजपा में शामिल होने वाले राहुल सिंह के नाम का जिक्र करते हुए कहा कि कांग्रेस नेताओं ने फिर से बिकाऊ बिकाऊ का राग अलापना प्रारंभ कर दिया है।
 
वास्तव में कांग्रेस के नेताओं को सोचना चाहिए कि उनके विधायक ऐसा करने के लिए मजबूर क्यों हो रहे हैं। चौहान ने कहा कि कांग्रेस नेताओं को अपने ही विधायकों और उनके साथ वर्षों तक कार्य करने वालों को बिकाऊ कहते हुए शर्म नहीं आती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मोतीलाल नेहरु और सुभाषचंद्र बोस ने भी कांग्रेस छोड़ी थी। यही नहीं पूर्व मुख्यमंत्री के भाई ने भी कांग्रेस छोड़ भाजपा का दामन थामा था। तो क्या कांग्रेस नेता इन सबको भी बिकाऊ मानती है।
 
उन्होंने कहा कि वास्तव में कांग्रेस में अब कुछ नहीं बचा है। राज्य में कांग्रेस के सभी पदों पर कमलनाथ कब्जा जमाए हुए हैं। कमलनाथ केंद्रीय नेतृत्व की बातों पर भी ध्यान नहीं दे रहे हैं। इन स्थितियों में यदि कांग्रेस विधायक उनकी पार्टी छोड़ रहे हैं, तो इसके लिए जिम्मेदार कौन हैं। चौहान ने अपने भाषण के दौरान भाजपा सरकार की नीतियों को गिनाया, तो पूर्ववर्ती कमलनाथ सरकार की नीतियों की आलोचना करते हुए कहा कि उन्हें जब मौका मिला था, जनहित के कार्य नहीं किए और वचन भी नहीं निभाए। अब सरकार से हटने के बाद बड़े बड़े दावे कर रहे हैं।
 
उन्होंने भाजपा को जिताने का अनुरोध करते हुए कहा कि ऐसा करने से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथ मजबूत होंगे और राज्य की उनकी सरकार भी और बेहतर तरीके से कार्य कर पाएगी। उन्होंने कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व से भी मांग की कि वह जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 के संबंध में अपनी स्पष्ट राय व्यक्त करे। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »