04 Aug 2020, 07:42:38 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State » Madhya Pradesh

कोरोना का असर : महाकाल की भस्म आरती में शामिल नही हो सके श्रद्धालु

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 6 2020 4:13PM | Updated Date: Jul 6 2020 4:15PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

उज्जैन। मध्यप्रदेश के उज्जैन में स्थित भगवान महाकालेश्वर मंदिर में श्रावण मास के पहले सोमवार को मंदिर में प्रवेश पर रोक लगने के चलते भगवान शिव की भस्मार्ती में श्रद्धालु शामिल नही हो पाये। वैश्विक महामारी कोरोना के चलते जिला प्रशासन ने श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक लगायी है। जबकि उज्जैन में श्रावण उत्सव बडे ही धूमधाम से मनाया जाता है। इस दौरान देश और विदेश से हजारों की संख्या में यहां पहुंचते है। उज्जैन में श्रावण व भादो मास के प्रत्येक सोमवार को भगवान महाकाल की सवारियां परंपरागत तरीके से निकलती है।
 
आज शाम को भगवान महाकालेश्वर की सवारी निकाली जाएगी। इसके लिए प्रशासन एवं मंदिर प्रबंध समिति ने कोरोना महामारी के कारण सवारी मार्ग को छोटा व परिवर्तित किया गया है। आम दर्शनार्थी इसमें शामिल नही होगें बल्कि वह सवारी का दर्शन घर से टीवी के माध्यम से कर सकता है। इस सवारी के पीछे ऐसी मान्यता बताया जाता है कि भगवान आज अपनी प्रजा का हाल जानने के लिए नगर भ्रमण पर निकलते है।
 
मंदिर प्रबंध सूत्रो ने बताया कि आज तडके भगवान महाकाल के पट खोले गए। पंचामृत अभिषेक के बाद भस्मारती शुरू हुई। इस धार्मिक कार्यक्रम में कुछ पुजारी ही शामिल रहे। श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए सुबह 5 बजकर 30 मिनट से रात्रि 09 बजे तक का समय तय किया गया है। इस दौरान केवल वही श्रद्धालु दर्शन कर सकेंगे जिन्होंने पूर्व में दर्शन के लिए बुकिंग करा रखी है। महाकाल मंदिर समिति ने सावन माह में प्रतिदिन दस हजार भक्तों को दर्शन कराने का प्रबंध किया है।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »